पिछली सरकार के दौरान नर्सिग काॅलेजों को लाइसैंस देने में भ्रष्टाचार के आरोप पर घिर गए मंत्री अनिल विज

Prateek Saini

Publish: Sep, 10 2018 08:49:48 PM (IST)

उधर कांग्रेस सदस्य और पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा ने कहा कि मंत्री झूठ बोल रहे है...

(चंडीगढ): हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज सोमवार को विधानसभा में तब घिर गए, जबकि उन्होंने आरोप लगाया कि पिछली कांग्रेस सरकार के दौरान नर्सिग काॅलेज चलाने के लिए लाइसेंस बांटने में भ्रष्टाचार किया गया था। विज के इस आरोप पर नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय चौटाला ने सवाल किया कि यदि भ्रष्टाचार किया गया था तो क्या जांच कराई गई? विज ने कहा कि हां जांच कराई गई है। चौटाला ने कहा कि तो भ्रष्टाचार करने वालों के नाम बताए जाएं। विज के पास इससे आगे जवाब नहीं था।


उधर कांग्रेस सदस्य और पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा ने कहा कि मंत्री झूठ बोल रहे है। सदन में कांग्रेस विधायक दल की नेता श्रीमती किरण चौधरी के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा हो रही थी। किरण चौधरी ने अपने प्रस्ताव से एएनएम और जीएनएम की परीक्षाएं लम्बे समय से ना कराए जाने का मुद्या उठाया था।


किरण चौधरी ने कहा था कि इन दोनों पैरामेडिकल कोर्स की परीक्षाएं वर्ष 2014 से नहीं कराई गई है। हजारों छात्राओं को परीक्षा का इंतजार है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार के पास पैरा मेंडिकल स्टाफ पूरा नहीं होगा तो वह अपनी योजनाए कैसे संचालित करेगी। उन्होंने पूछा कि सरकार बताए कि परीक्षाएं कब कराई जाएंगी।

 

ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि कांग्रेस सदस्य द्वारा परीक्षा का इंतजार कर रहे एएनएम व जीएनएम छात्रों की संख्या बहुत बढाकर बताई है। प्रदेश में इसके लिए कुल सीट ही 6133 है। हर साल परीक्षा करवाई जा रही है। वर्ष 2014 से वर्ष 2018 तक की परीक्षाएं करवाई गई है। आगामी दिसम्बर तक परीक्षा परिणाम आ जायेंगे। उन्होंने कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार के दौरान कार्यरत नर्सिग कौंसिल गैर कानूनी थी। मौजूदा सरकार ने नया नर्सिंग एक्ट बनाकर नई नर्सिग कौंसिल बनाई। पिछली नर्सिग काॅलेज में सिर्फ एक ही प्रतिनिधि हरियाणा से था। बाकी प्रतिनिधि पंजाब से थे। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के दौरान पैसे लेकर नर्सिग काॅलेज के लाइसेंस दिए गए।

 

पैसे लेकर नर्सिग काॅलेज के लाइसेंस देने के मंत्री विज के आरोप पर नेता प्रतिपक्ष चौधरी अभय चौटाला ने कहा कि मंत्री ने इस आरोप की जांच कराई थी क्या? विज ने जवाब में कहा कि हां जांच कराई गई थी। चौटाला ने कहा कि यदि जांच कराई गई थी तो क्या पेसे लेने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी? पैसे लेने वालों के नाम भी बताए जाएं। विज ने इस पर कहा कि मामले की सीबीआई से जांच करवाई जाए। जब हरियाणा में कानून ही नहीं था तो पिछली सरकार ने नर्सिंग कौंसिल कैसे बनाई गई। इस बीच कांग्रेस सदस्य और पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा ने कहा कि मंत्री झूठ बोल रहे है। विज ने इसके जवाब में कहा कि मैंने सच बोला है। सदस्य का दिमागी संतुलन बिगड गया है।


चौटाला ने कहा कि यदि मंत्री विज पैसे लेकर लाइसैंस देने के आरोप की जांच नहीं करवाते तो माफी मांगें। चौटाला ने इसके साथ ही मौजूदा सरकार के दौरान महिला उत्पीडन के कई मुद्ये उठा दिए। इसी चर्चा को मोडते हुए विज ने कहा कि कांग्रेस के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा तो जमानत पर है। विज ने कहा कि हुड्डा तो जेल जाने वाले है। इस पर हुड्डा ने जवाब दिया कि तेरा इंतजाम तो मैं करूंगा।

More Videos

Web Title "Haryana minister anil vij in trouble due to couraption case"