जिला पंचायत में कम्प्यूटर खरीदी में उलझा विभाग: रूका 65 लाख का भुगतान

By: Yggyadutt Parale

Updated On: Aug, 12 2019 05:49 PM IST

  • जिला पंचायत में कम्प्यूटर खरीदी में उलझा विभाग: रूका 65 लाख का भुगतान

रतलाम. जिले की ग्राम पंचायतों में लगने के लिए सात वर्ष पूर्व हुई 65 लाख की कम्प्यूटर खरीदी के बाद ठेकेदार आज तक भुगतान के लिए जिला पंचायत के चक्कर काट रहा है। कम्प्यूटर खरीदी में गड़बड़ी के आरोप लगाकर लोकायुक्त में हुई एक शिकायत के बाद जांच में क्लीन चिट मिलने पर भी फर्म का भुगतान अब तक नहीं हो सका है। जिपं के तत्कालीन सीईओ सोमेश मिश्रा ने विभाग के साथ ही शासन से भुगतान की स्वीकृति के संबंध में अभिमत मांगा था, जो मिलने के बाद भी भुगतान नहीं किया गया। जिले की ग्राम पंचायतों को हाईटेक करने के लिए वर्ष 2012 में ग्राम पंचायतों में कम्प्यूटर खरीदी के पहले चरण मेंं 65 पंचायतों के लिए 65 लाख रुपए कीमत के कम्प्यूटर व उसके अन्य उपकरण खरीदे गए थे। लघु उद्योग निगम द्वारा तय संस्था से खरीद के बाद जब फर्म को भुगतान की बारी आई तो खरीद में भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर एक व्यक्ति द्वारा लोकायुक्त में इसकी शिकायत कर दी गई, जिसकी जांच में वर्ष 2018 में फर्म को क्लीनचिट मिल गई लेकिन उस समय जिला पंचायत में पदस्थ तत्कालीन सीईओ सोमेश मिश्रा को यह रास नहीं आया और उन्होने भुगतान करने के बजाए विभाग के कर्मचारियों की जांच समिति बना दी।

पांच अधिकारियों की जांच समिति
जिला पंचायत के पांच अधिकारियों की जांच समिति ने अपनी रिपोर्ट में फर्म को भुगतान करने का फैसला सीईओ को रिपोर्ट के माध्यम से सौंपा तो मामले में शासन से अभिमत चाहा गया जिस पर शासन ने भी राशि जारी करने के निर्देश दिए लेकिन इसके बाद फिर से सीईओ ने लोकायुक्त से राशि जारी करने के संबंध में अभिमत मांगा, इससे मामला उलझ गया। लोकायुक्त ने फिर राशि देने के निर्देश दिए लेकिन इस आदेश को भी नहीं माना गया।

सात वर्ष बाद भौतिक सत्यापन
लोकायुक्त, जिला पंचायत की जांच टीम, शासन से निर्देश फिर से लोकायुक्त से अभिमत एेसे चार बार की प्रक्रिया में चारों बार सभी ने तत्कालीन सीईओ को फर्म का भुगतान करने की बात कही लेकिन तत्कालीन जिपं सीईओ ने खरीदी के सात वर्ष बाद अब उक्त कम्प्यूटर सिस्टम का भौतिक सत्यापन करने के निर्देश जनपद पंचायत सीईओ को जारी कर दिए। तत्कालीन सीईओ ने सत्यापन के बाद ही राशि जारी करने की बात कही और इस बीच उनका तबादला हो गया, जिसके चलते फर्म का यह भुगतान अब जिपं के नए सीईओ के पाले में आ गया है।

Published On:
Aug, 12 2019 05:28 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।