Pakistan में हिंदू लडक़ी का बंदूक की नोक पर अपहरण, जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया निकाह

Devesh Kr Sharma

Publish: Sep, 13 2017 02:10:00 (IST) | Updated: Sep, 13 2017 02:17:00 (IST)

Asia

धर्म परिवर्तन के बाद लडक़ी का एक युवक से जबरन निकाह भी कराया गया है।

नई दिल्ली. पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक शिक्षिका का उसके घर के बाहर से ही बंदूक की नोक पर अपहरण कर लिया गया है। मामला सिंध प्रांत के खाईरपुर का है, जहां शनिवार को हिंदू लडक़ी को अगवा कर लिया गया। युवती की पहचान आरती कुमारी के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि 19 साल की आरती स्थानीय कासिम मॉडल स्कूल में टीचर है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उसे इलाके के एक दंबग अम्मेर वासन ने बंदूक की नोक पर उसके घर के सामने से अगवा किया था।


धर्म परिवर्तन के बाद लडक़ी का एक युवक से जबरन निकाह भी कराया गया है। घटना के संबंध में अमरीकी न्यूज एजेंसी एपी की पाकिस्तान में कार्यरत एक पत्रकार नैला इनायत ने ट्वीट के माध्यम से जानकारी दी कि अपहरण के बाद जबरन आरती का धर्म परिवर्तन करा दिया गया है, और उसका नया नाम माहविश रखा गया है। बता दें कि पाकिस्तान में अक्सर हिंदू अल्पसंख्यक हैं और वहां पर अक्सर हिंदू लड़कियों और महिलाओं के साथ इस तरह के अत्याचार होते रहते हैं।



न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक आरती को धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया गया। साथ ही उससे एक हलफनामा साइन कराया गया कि वह यह सब अपनी मर्जी से कर रही है। हलफनामा में दावा किया गया है कि उसने अपनी मर्जी से बख्श नामक व्यक्ति के साथ निकाह किया है। वहीं आरती के एक रिश्तेदार ने बताया कि आरती की शादी इस साल नवंबर में होने वाली थी, लेकिन उसे पहले ही किडनैप कर लिया गया। इससे पहले भी आरती के परिवार की एक लडक़ी को अगवा किया जा चुका है। एपी की स्थानीय पत्रकार नैला इनायत ने इस संबंध में दस्तावेज भी ट्विटर पर साझा किए हैं।

विशेषज्ञों के अनुसार, सरकार की अनदेखी और ग़लत नीतियों के कारण देश में सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले धार्मिक अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय से हैं, जिन्हें पिछड़े होने के कारण हमेशा नजरअंदाज किया जाता रहा है। मानवाधिकार संगठनों का कहना है कि पाकिस्तान से पलायन कर गई हिंदुओं की नब्बे प्रतिशत आबादी का कारण बढ़ती असहिष्णुता और सरकार की उदासीनता है। भारतीय उपमहाद्वीप के बंटवारे के समय, पश्चिमी पाकिस्तान यानि की मौजूदा पाकिस्तान में, 15 प्रतिशत हिंदू रहते थे. 1998 में देश में की गई अंतिम जनगणना के अनुसार, उनकी संख्या मात्र 1.6 प्रतिशत रह गई और देश छोडऩे की एक बड़ी वजह असुरक्षा थी।

Web Title "19 years old Hindu Girl kidnapped in Pakistan to married off"

Rajasthan Patrika Live TV