रिंग रोड फेज-2 के लिए सीमांकन का किसानों ने किया जमकर विरोध, पुलिस व प्रशासनिक टीम बैरंग लौटी

By: Ajay Chaturvedi

Updated On:
06 Jun 2019, 07:03:36 PM IST

  • - पुलिस ने किसानो को लिया हिरासत में
    --गिरफ्तार किसानों को पुलिस जीप से उतारा, किया उग्र विरोध
    -हरदासपुर के किसानों ने दमनात्मक कार्रवाई का लगाया आरोप

वाराणणसी. रिंग रोड फेज-2 के लिए सीमांकन शुरू होते ही ग्रामीणों और प्रशासन आमने-सामने आ खड़ा हुआ। यहां तक कि ग्रामीणों ने पुलिस व सिविल प्रशासन पर दमनात्मक कार्रवाई का आरोप लगाते हुए जम कर हंगामा मचाया। यहां तक विरोध करने वाले जिन किसानों को पुलिस ने हिरासत में लिया था उन्हें भी पुलिस कस्टडी से बाहर करा लिया। हंगामा इतना जबरदस्त रहा कि पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को बिना कार्रवाई वापस लौटना पड़ा।

 

बता दें कि राजातालाब तहसीलदार के नेतृत्व में तीन थाने की पुलिस सात गाड़ीयों से गुरुवार की दोपहर 12 बजे पहुंची हरदासपुर, गंगापुर। आरोप है कि मौके पर पहुंचने के साथ ही जबरदस्ती रिंग रोड फेज दो के लिए सीमांकन शुरू करा दिया। इधर सीमांकन शुरू हुआ और उधर इसका पता चलते ही किसानों का जमावड़ा होने लगा।

आरोप है कि आपत्ति निस्तारण के बिना रिंग रोड फेज दो का सीमांकन शुरू होने पर किसानों ने फिर आपत्ति जताई। लेकिन आरोप है कि आपत्ति जताने वालों को नजरंदाज करते हुए प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी। इस पर किसानों ने हरदासपुर गंगापुर में प्रशासन की कार्रवाई का जमकर मुकाबला किया। ग्रामीणओं के विरोध के चलते तीन थाने की फोर्स के साथ पहुंचे मजिस्ट्रेट को सीमांकन का कार्य छोड़ जेसीबी लेकर भागना पड़ा। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने गिरफ्तार किसान राजेश सिंह, नारायणी सिंह, रामजी सिंह एवं सतीश को पुलिस की जीप से उतार कर उग्र विरोध किया। पुलिस की दमनात्मक कार्रवाई में दर्जनों किसानों को चोट आई।

 

 

Banaras  <a href=farmers strongly protest on land acquisition Issue" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/06/06/banaras_farmers_strongly_protest-1_1_4674603-m.jpg">

इस बीच किसानों ने पुलिस कार्रवाई का वीडियो बनाना शुरू किया तो पुलिस ने जबरदस्ती किसानों का मोबाइल भी छीन कर दमनात्मक कार्रवाई की बीडियो डिलिट कर दिया। लेकिन किसान माने नहीं बल्कि प्रशासन की इस कार्रवाई का मुहतोड़ जबाब देकर प्रशासन को भागने पर मजबूर कर दिया ।
इस दमनात्मक कार्रवाई की किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय संयोजक विनय शंकर राय "मुन्ना" ने निंदा की। उन्होंने बीजेपी पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि चुनाव के वक्त छह हजार रुपये सालाना देने का प्रलोभन दिया। अब वो ही किसानों पर दबाव बना कर उनकी जमीन औने-पौने दाम पर लेने में जुट गए है। कहा कि प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में भूमि अधिग्रहण कानून का उल्लंघन हो रहा है। निःसंदेह यह बड़ा सवाल खड़ा करता है।

कहा कि इसका मुहतोड़ जबाब दिया जाएगा। इसके लिए किसानों को लामबंद किया जाएगा। किसी भी सूरत में दमनात्मक कार्रवाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी किसानों के सरोकारों पर संघर्ष करने वाले विभिन्न किसान संगठनों को एकजुट कर किसानों के हित में सड़क पर उतरकर दमनात्मक कार्रवाई का माकुल जबाब दिया जाएगा ।

 

Updated On:
06 Jun 2019, 07:03:36 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।