भारत के बाद जापान और अमरीका में पैर जमाने की तैयारी में पेटीएम, ये है विजय शेखर की प्लानिंग

By: Manish Ranjan

Updated On:
30 Nov 2018, 09:20:26 AM IST

  • लॉन्च होने के बाद से मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम ने देशभर में जमकर मुनाफा कमाया।

नई दिल्ली। लॉन्च होने के बाद से मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम ने देशभर में जमकर मुनाफा कमाया। पेटीएम ने लोगों को डिजिटल पेमेंट के लिए खूब प्रोत्साहित किया और धीरे-धीरे पेटीएम ने छोटे से लेकर बड़े कारोबारी एवं उपभोक्ताओं के बीच अपनी जगह बना ली। भारत में कामयाबी हासिल करने के बाद अब पेटीएम जापान के बाजार में अपना दबदबा कायम करने में लगी हुई है। इतना ही नहीं जापान में कामयाबी हासिल करने के बाद पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा अमरिकी बाजार में भी अपने पैर जमाने की प्लानिंग कर रहे हैं।

जापान में दबदबा कायम करना चाहते हैं विजय शेखर शर्मा

हाल ही में हुए टाई वैश्विक शिखर सम्मेलन में पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने कहा है कि जापानी बाजार में दबदबा बनाना वाकई अहम है। क्योंकि जापान पेटीएम के लिए अच्छा बाजार साबित हो सकता है।शेखर आगे कहते हैं कि अगर हमने भारत की ही तरह जापान में भी सफलता पा ली तो अमरीका जैसे बड़े देश में जाने का रास्ता साफ हो जाएगा।

जापान में अभी भी है नकदी भुगतान की परंपरा

आपको बता दें कि जुलाई में सॉफ्टबैंक ग्रुप कारपोरेशन ने जापान में डिजिटल भुगतान सेवा पेपे पेश करने की घोषणा की थी। जिसके बाद इस सेवा की शुरूआत अक्टूबर में कर दी गई है। इसे सॉफ्टबैंक ग्रुप कारपोरेशन और याहू जापान कारपोरेशन मिलकर लेकर आए थे। साथ ही इसके लिए पेटीएम को सेवा सहयोगी बनाया गया था। पेपे में ग्राहकों को अपने खाते से वॉलेट में पैसे रखने की सुविधा मिलती है जिसका उपयोग वह जापान में डिजिटल भुगतान के लिए कर सकते हैं। जापान में अभी भी नकदी भुगतान की परंपरा है।

 

 

Updated On:
30 Nov 2018, 09:20:26 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।