बुलंदशहर हिंसा के शिकार इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के परिवार की मदद के लिए ​पुलिस विभाग ने बढ़ाया हाथ, किया ये ऐलान

By: suchita mishra

|

Published: 06 Dec 2018, 10:33 AM IST

Kasganj, Kasganj, Uttar Pradesh, India

कासगंज। बुलंदशहर जिले के स्याना कोतवाली इलाके में गोकशी के नाम पर भड़की हिंसा में शहीद होने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिवार को उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से आर्थिक सहायता मिलने के बाद अब कासगंज पुलिस विभाग ने भी परिवार की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है। बुधवार को कासगंज पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने बुलंदशहर में घटित इस घटना को दुखद बताते हुए कहा कि इस मामले में कार्रवाई तो पुलिस, एसआईटी और अधिकारी करेंगे। मानवीय तौर पर वो हमारे परिवार के शख्स थे। आज उनके परिवार के साथ हम खड़े हैं। मानवीयता के तहत कासगंज पुलिस व जनपदवासियों ने उनके परिवार को एक दिन का वेतन देने का निर्णय किया है। उन्होंने कहा कि कासगंज छोटा जनपद है, इसमें करीब 15 लाख रुपए इकट्ठे होंगे जो उनके परिवार को सहायता राशि के रूप में दिए जाएंगे। उनके परिवार की इस दुखद घड़ी में हम सब उनके साथ हैं।

बता दें कि बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी को लेकर ग्रामीणों और पुलिसकर्मियों के बीच में बवाल हुआ था। ग्रामीणों ने पुलिस चौकी पर जमकर तोड़फोड़ की और वाहनों में आग लगा दी थी। इस दौरान उन्होंने पथराव और आगजनी भी की। ग्रामीणों द्वारा किये गए पथराव में स्याना कोतवाल सुबोध कुमार सिंह की मौत हो गई। इस हिंसक घटना में पुलिस फायरिंग में एक छात्र की भी मौत हुई है। घटना के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी को 40 लाख रुपए और शहीद के माता-पिता को 10 लाख देने के साथ ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा किया है। इसके साथ ही आश्रित परिवार को असाधारण पेंशन की भी घोषणा की है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।