इंदौर ट्रक ऑपरेटर्स एंड ट्रांसपोर्ट एसो. का फैसला, ट्रांसपोर्ट कारोबारी 6 महीने तक नहीं खरीदेंगे बड़े वाहन

By: Reena Sharma

Updated On:
24 Aug 2019, 05:16:04 PM IST

  • मंदी की मार से परेशान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे 500 पत्र

     

इंदौर. देश की बिगड़ती अर्थव्यवस्था का असर ट्रांसपोर्ट कारोबार पर भी दिखाई देने लगा है। उत्पादन के साथ-साथ देश में सभी तरह के निर्माण की मांग कम हो गई है, जिससे ट्रांसपोर्टर्स परेशान हैं। इसे लेकर इंदौर ट्रक ऑपरेटर्स और ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के सदस्यों ने बैठक कर कुछ अहम फैसले लिए। करीब 400 सदस्यों वाले संगठन ने तय किया है कि सरकार के प्रति नाराजगी दिखाने के लिए वे अगले 6 महीने तक नए हेवी कमर्शियल वाहन नहीं खरीदेंगे।

must read : इंजीनियर बेटे ने किया मां को फोन और कुछ देर बाद ही खा लिया जहर, शादी की तैयारी कर रहा था परिवार

सदस्यों का कहना है सिर्फ इंदौर ही नहीं प्रदेश के अन्य ट्रक ऑपरेटर्स भी इस फैसले में उनका साथ देंगे। जब नए वाहन नहीं खरीदे जाएंगे तो सरकार को जीएसटी सहित अन्य टैक्स का नुकसान होगा। अध्यक्ष सीएल मुकाती ने बताया, मंदी के चलते महीने में 18 से 20 दिन ही वाहन चल रहे हैं। डिमांड कम होने से बाकी दिनों में वाहन खड़े हैं और हमे नुकसान हो रहा है। संगठन ने सभी बैकों से अनुरोध किया है कि वे वाहन खरीदी के लिए ओवर फंडिंग न करें। गाडिय़ां खाली करते और भरते समय जो इंतजार करना होता है उसके शुल्क में भी इजाफा करने का फैसला लिया गया है।

must read : बच्चों की मौत से सदमे में थी मां , शिप्रा में लगा दी छलांगा, पहले बेटी फिर बेटे की उखड़ गई थी सांसें

10 टायर वाली गाड़ी के एक हजार, 12 टायर वाली के 1500 और 14 टायर वाली गाडिय़ों के 2000 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से अब शुल्क बुकिंग करने वालों से लिया जाएगा। सदस्यों ने डीजल को जीएसटी में लाने की मांग की है। यह फैसला भी लिया गया कि जो सदस्य ओवर लोडिंग करेगा उस पर अर्थदंड लगाया जाएगा। पिछले दिनों सदस्यों ने विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 500 पत्र लिखे थे।

Updated On:
24 Aug 2019, 05:16:04 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।