तीसरी रेलवे लाइन का काम तेज, झांसी से धौलपुर तक 162 किमी रेल लाइन

By: Gaurav Sen

Published On:
Jun, 25 2019 11:55 AM IST

  • मार्च 2020 तक 40 किमी का काम पूरा.....

ग्वालियर. झांसी से ग्वालियर होते हुए धौलपुर तक बनने वाली 162 किमी की तीसरी रेलवे लाइन का काम ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर भी तेज हो गया है। यहां पड़ाव पुल के पास बने आरआरआई केबिन को तोडकऱ दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा तब प्लेटफॉर्म नंबर 4 के पास तीसरी लाइन बिछाने का काम शुरू होगा। इससे पहले इसी सप्ताह प्लेटफॉर्म-1 पर आगरा साइड में मैकेनाइज्ड लाउंड्री के पीछे पुराने केबिन को तोडऩे का काम शुरू हो जाएगा। नया आरआरआई केबिन वहीं बनाना है। छोटी लाइन की जगह पर भी नया प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा।

प्लेटफार्म एक पर मैकेनिकल लॉंन्ड्री के पीछे जहां बनना है नया आरआरआई केबिन।

3000 हजार करोड़ का पूरा प्रोजेक्ट
तीसरी लाइन के लिए 162 किमी में 185 ब्रिज बनेंगे
कार्य पूरा होगा 2022-23
छोटे ब्रिज 165
बड़े ब्रिज 15
गार्डर ब्रिज 05
बड़े पुल चंबल, सिंध के आसपास बनाए जा रहे हैं।

मार्च 2020 तक 40 किमी का काम पूरा
162 किमी लाइन में से लगभग 20 स्टेशन हैं। इसका 40 किमी हिस्सा रेल विकास निगम तैयार करेगा। निगम इसे मार्च 2020 तक पूरा कर देगा। कंपनी हर साल 50-50 किमी का ट्रैक तैयार करेगी। इसके लिए कई छोटे-छोटे गांवों में रास्तों को समतल किया जा रहा है।

माउस के क्लिक से ऑपरेट होंगी ट्रेन
वर्तमान आरआरआई केबिन में रूट रिले इंटरलॉकिंग व्यवस्था है। इसमें स्टेशन मास्टर हाथ से बटन दबाकर ट्रेनों का संचालन करते हैं। नए तीन मंजिला बिल्डिंग में अत्याधुनिक आरआरआई सेटअप लगेगा। इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग वाले सेटअप में माउस के क्लिक से ट्रेन ऑपरेट होंगी।

 

railway third line work between dholpur to jhansi

प्लेटफार्म चार के पास बना आरआरआई केबिन जो होगा शिफ्ट।

नया भवन तीन मंजिला होगा

चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर अतुल निगम ने बताया की तीसरी लाइन को लेकर कई स्टेशनों पर काम दिखने लगा है। अब ग्वालियर रेलवे स्टेशन से आरआरआई केबिन को बनाने के लिए काम इस हफ्ते से शुरू हो जाएगा। नया भवन तीन मंजिला होगा। इसमें अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाएगा।

Published On:
Jun, 25 2019 11:55 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।