भारत में 10 लाख EV बनाने के लिए Hyundai करेगी 2,000 करोड़ का निवेश

By: Vineet Singh

Updated On: Jul, 18 2019 12:27 PM IST

    • ( Hyundai ) हुंडई भारत में करेगी 2,000 करोड़ का निवेश
    • 10 लाख EV बनाने का है लक्ष्य
    • चेन्नई स्थित प्लांट में तैयार की जाएंगी कारें

नई दिल्ली: ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई ( Hyundai ) भारत में 10 लाख इलेक्ट्रिक कार ( electric car ) बनाने की योजना बना रही है। इतनी भारी संख्या में इलेक्ट्रिक कारें बनाने के लिए कंपनी 2,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी जिससे कंपनी के चेन्नई स्थित प्लांट में कारों को बनाया जा सके।

कंपनी जो इलेक्ट्रिक कारें बनाएगी उनमें सबकॉम्पैक्ट एसयूवी या प्रीमियम हैचबैक मॉडल शामिल हो सकते हैं। इन कारों को मिडिल ईस्ट, लैटिन अमेरिका, अफ्रीका और एशिया जैसे देशों में सप्लाई किया जाएगा।

Skoda Rapid राइडर एडिशन भारत में लॉन्च, कीमत महज 6.99 लाख रुपये

अपने इस कदम से कंपनी का उद्देश्य क्लीन मोबिलिटी को बढ़ावा देना है। आपको बता दें कि इस समय सरकार भी ऑटोमोबाइल कंपनियों को गंभीरता से इलेक्ट्रिक वाहन बनाने पर जोर दे रही है क्योंकि भारत में प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है और इसे कम करने और पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों से निजात पाने के लिए ये बेहद ही जरूरी कदम होगा।

Hyundai EV

इलेक्ट्रिक कारों को बनाने के साथ कंपनी भारत में इलेक्ट्रिक बैटरीज बनाने पर भी विचार कर रही हैं क्योंकि हाल ही में सुजुकी और टोयोटा ने मिलकर गुजरात में इलेक्ट्रिक बैटरीज बनाने का सेटअप तैयार कर लिया है।

हुंडई इंडिया के एमडी एस के किम ने कहा कि इनमें एलजी, सैमसंग एसडीआई और एसके इनोवेशन जैसे कोरियाई इलेक्ट्रॉनिक्स दिग्गज शामिल हैं। किम ने बताया है कि "हम पूरी तरह से नए और अलग उत्पाद का निर्धारण करने के लिए अध्ययन कर रहे हैं, और यह एक भारत-समर्पित मंच होगा।"

कंपनी ने हाल ही में अपनी ग्लोबल इलेक्ट्रिक कार कोना एसयूवी मार्केट में लॉन्च की है, लेकिन इसकी कीमत 25 लाख रुपये है ऐसे में लोग इसे ज्यादा संख्या में खरीदेंगे, इस बात की उम्मीद नहीं है।

गोरखपुर के BJP सांसद रविकिशन के पास है लग्जरी कारों का जबरदस्त कलेक्शन, देखकर आप भी कहेंगे वाह

Hyundai EV

हुंडई का लक्ष्य बाजार इलेक्ट्रिक कारों को लॉन्च करना है। किम ने कहा है कि "हम एक कीमत चाहते हैं जो सामान्य ग्राहकों के लिए स्वीकार्य होनी चाहिए।"

"किम ने कहा कि निवेश लगभग 200 मिलियन डॉलर है, लेकिन चूंकि यह एक नई आपूर्ति श्रृंखला के साथ आता है, इसलिए यह $ 300 मिलियन (2,000 करोड़ रुपये) या अधिक हो सकता है।"

Published On:
Jul, 17 2019 01:13 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।