पानी मिलेगा या नहीं इसकी गारंटी नहीं, खपत मापने हर घर में लगाया जाएगा वाटर मीटर

By: Tara Chand Sinha

Updated On: Apr, 26 2019 11:47 AM IST

  • पानी की खपत की मात्रा का पता लगाने के लिए अभी से हर घर में वाटर मीटर लगाने की तैयारी शुरू कर दिया है।

 

भिलाई.अमृत मिशन योजना शुरू होने के बाद भी लोगों को पर्याप्त मात्रा में पानी मिलेगा या नहीं, अभी इसकी कोई गारंटी नहीं है, लेकिन एजेंसी ने पानी की खपत की मात्रा का पता लगाने के लिए अभी से हर घर में वाटर मीटर लगाने की तैयारी शुरू कर दिया है। नेहरू नगर जोन क्षेत्र के कई घरों में वाटर मीटर भी लगा चुका है ताकि प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद पानी की खपत के अनुसार टैक्स वसूल किया जा सके। शासन के अनुबंध के शर्त के अनुसार लोगों को वाटर मीटर का चार्ज देना पड़ेगा। जिनके घर में पहले से नल कनेक्शन है, उन घरों में भी नया वाटर मीटर लगाया जाएगा।

24 घंटे पानी सप्लाई का दावा

2009-10 में जब 72 एमएलडी क्षमता के फिल्टर प्लांट के साथ जल आवर्धन योजना शुरू हुई थी, तब लोगों को 24 घंटे पानी सप्लाई का दावा किया था। 10 हजार से अधिक घरों में वाटर मीटर लगाया गया था। जिस पर निगम प्रशासन ने लगभग 16 करोड़ रुपए खर्च किए थे। पानी की कमी की वजह से इन वाटर मीटर का कभी उपयोग नहीं हुआ। लोगों को 24 घंटा पानी तो दूर एक बाल्टी पानी भी नसीब नहीं होता। अमृत मिशन योजना के अंतर्गत 72 एमएलडी क्षमता के नया फिल्टर प्लांट बनाने के बाद फिर से वाटर मीटर और 24 घंटे पानी सप्लाई का दावा कर रहे हैं।

16 हजार बीपीएल परिवार होंगे प्रभावित

शहर के 16 हजार बीपीएल परिवार जिनके घरों में भागीरथी नल जल योजना के कनेक्शन है, वे निगम प्रशासन की नई व्यवस्था से प्रभावित हो सकते हैं। शासन ने उन्हें 2010-11 में भागीरथी योजना के अंतर्गत मुफ्त में कनेक्शन दिया था। उनके घरों में वाटर मीटर नहीं लगा है। अब अमृत मिशन के योजना के अंतर्गत उनके घरों में भी 3200 रुपए कीमत का वाटर मीटर लगाया जाएगा। एजेंसी इसका शुल्क निगम प्रशासन से वसूली करेगी। निगम प्रशासन यह राशि या तो हितग्राही से वसूल करेगा या फिर लोगों से वसूल की गई टैक्स की राशि से भरपाई करेगा।

घरेलू कनेक्शन -5 हजार रुपए

प्रायवेट नल कनेक्शन की डिमांड करने पर कनेक्शन के साथ वाटर मीटर लगाया जाएगा। इसके एवज में लोगों को 5 हजार रुपए शुल्क देना पड़ेगा। इसमें संयोजन शुल्क, वाटर मीटर का चार्ज और अमानत राशि शामिल है। यह राशि लोग किस्त में जमा कर सकते हैं। पहले नल कनेक्शन पर 6 हजार रुपए जमा लिया जाता था। जिसमें 4500 रुपए पाइप लाइन, वाटर मीटर सहित अन्य खर्च का संयोजन शुल्क है। 1500 रुपए अमानत राशि थी। जिसमें निगम प्रशासन ने एक हजार रुपए कम किया है।

आवास सह व्यवसाय - 10 हजार

20 मिलीमीटर डाया के पाइप लाइन से आवास सह व्यावसायिक नल कनेक्शन दिया जाएगा। 10 हजार कनेक्शन शुल्क लिया जाएगा। 25 मिलीमीटर डाया के पाइप लाइन से कनेक्शन लेने पर 18 हजार रुपए जमा करना पड़ेगा। इसमें अमानत राशि का प्रावधान है।

औद्यागिक क्षेत्र में -40 हजार

औद्योगिक क्षेत्र में 40 मिलीमीटर डाया के पाइप लाइन से उद्योगों को नल कनेक्शन दिया जाएगा। नए कनेक्शन के लिए डिमांड करने पर 40 हजार रुपए देना पड़ेगा।

90 हजार घरों में वाटर मीटर लगेगा

एजेंसी के सर्वे के अनुसार शहर के 90 हजार घरों में वाटर मीटर लगेगा। उनका कहना है कि योजना शुरू होने से पहले टाउनशिप को छोड़कर बाकी हिस्से का डोर टू डोर सर्वे किया था। नल कनेक्शन के बारे में लोगों से पूछताछ की थी। तब लगभग 39200 घरों में नल जल और भागीरथी नल कनेक्शन होने की बात सामने आई थी। लगभग 50580 हजार लोगों ने नल कनेक्शन की डिमांड की थी। उसके अनुसार कंपनी से वाटर मीटर मंगाया गया है। नई व्यवस्था से शहर के 39200 घरों में फिर से नया वाटर मीटर लगाया जाएगा।

छावनी में 1600 आवेदन

अमृत मिशन योजना के अंतर्गत अब तक छावनी में 1600 लोग नल कनेक्शन के लिए जोन -4 शिवाजी नगर कार्यालय में आवेदन जमा कर चुके हैं। निगम प्रशासन ने कनेक्शन देने की कार्रवाई भी शुरू कर दिया है। यहां आवेदन के अनुसार नल कनेक्शन दिया जा रहा है। कनेक्शन शुल्क की राशि किस्त में जमा ली जाएगी।

242.49 करोड़ का है प्रोजेक्ट

अमृत मिशन के तहत शहर को 242.49 करोड़ की स्वीकृति मिली है। इस प्रोजेक्ट के तहत 10 स्थानों पर 32 लाख लीटर क्षमता की टंकी प्रस्तावित है। इनमें से चार स्थानों पर टंकी बन गई है। दो स्थानों पर 66 और 6 एमएलडी का फिल्टर प्लांट बनाया गया है। पाइप लाइन का विस्तार किया गया है। शिवनाथ नदी और पुराने 77 एमएलडी फिल्टर प्लांट का अपग्रेडेशन कार्य का काम चल रहा है।

 

Published On:
Apr, 26 2019 11:47 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।