शिक्षकों के तबादले ऑनलाइन में अटके

By: Shailesh Vyas

Updated On:
24 Aug 2019, 10:52:43 PM IST

  • प्रभारी मंत्री के अनुमोदन वाले शिक्षकों के तबादले ऑनलाइन में अटके गए है। विधायकों के दबाव और खींचतान से अधिकारी असमंजस मे हैं।

उज्जैन. विधायकों की अनुशंसा पर प्रभारी मंत्री के अनुमोदन वाले शिक्षकों के तबादले ऑनलाइन में अटक गए हैं। एेसी स्थिति में विधायकों के दबाव और खींचतान से अधिकारी असमंजस में हैं। इसके साथ ही तबादला प्रक्रिया में एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है। प्रभारी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के अनुमोदित फाइल शिक्षकों के प्रशासनिक तबादले किए जाने थे। परंतु अचानक से स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रशासनिक तबादले भी भोपाल से शुरू कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि विभागीय अधिकारियों ने प्रभारी मंत्रियों द्वारा अनुमोदित की गई फाइलों को दरकिनार कर शिक्षकों के तबादले आदेश उनकी आईडी में भेजना शुरू कर दिया। इससे शिक्षकों में हड़कंप मच गया और तबादलों की अनुशंसा करने वाले विधायकों में नाराजगी है। प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से जिले के जिले में तबादले शिक्षकों किए जाने का प्रावधान तबादला नीति में रखा गया था। इसके लिए प्रत्येक जिले में शिक्षकों की सूची तैयार की गई और प्रभारी मंत्रियों से अनुमोदित कराई गई। उज्जैन जिले से करीब ४५० शिक्षकों के तबादलों का अनुमोदन प्रभारी मंत्री द्वारा किया गया था।
पोर्टल पर लिंक नहीं खुली
प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से जिले के जिले में तबादला नीति प्रक्रिया पहले 6 अगस्त से शुरू होनी थी परंतु पोर्टल नहीं खुलने के कारण 8 अगस्त फिर 10 अगस्त कर दी गई। इसके बाद भी शिक्षा विभाग का पोर्टल नहीं खुला, तो भोपाल से ऑनलाइन तबादले के आदेश शिक्षकों तक पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया गया। विभागीय अफसरों के मुताबिक जिले में करीब ४५० शिक्षकों के प्रशासनिक आधार पर तबादले प्रस्तावित हैं।
इसलिए अटक गए तबादले
ऑनलाइन आवेदन की तबादले की सूची जारी होने के बाद शिक्षकों के कार्यमुक्त और कार्यभार ग्रहण करने की प्रक्रिया को पोर्टल के माध्यम से किया जा रहा है। इस पर स्कूलों में पद रिक्त पर होने पर स्थानांतरित शिक्षक का कार्यभार ग्रहण माना जाएगा। विधायकों की अनुशंसा पर प्रभारी मंत्री के अनुमोदन में एेसे स्कूलों में भी तबादलें हो गए है,जहां पद रिक्त नहीं है। पोर्टल सिस्टम के अनुसार शिक्षकों के कार्यमुक्त और कार्यभार ग्रहण को स्वीकार नहीं कर रहा है। एेसे में अनुशंसा/अनुमोदन के कई तबादलों का हल नहीं हो पा रहा है। तबादलों की अनुशंसा करने वाले विधायक मंशा अनुसार काम नहीं होने पर खिन्न है। विधायकों के दबाव और खींचतान से अधिकारी असंजस में हैं।
पद स्थापना के लिए काउंसिलिंग
ऑनलाइन तबादलों के बाद छोटे-छोटे कारण से शिक्षकों को कार्यमुक्त व कार्यभार ग्रहण नहीं कराया जा रहा था। एेसे प्रकरणों के निराकरण के लिए लोक शिक्षण संचालनालय आयुक्त के आदेश/निर्देश अनुसार कार्रवाई के लिए शिक्षा विभाग में स्थानांतरित शिक्षकों की पद स्थापना के लिए काउंसिलिंग की गई। जन्माष्टमी का अवकाश होने के बाद भी शिक्षा विभाग कार्यालय खुला रहा और दिनभर काउंसिलिंग का सिलसिला चलता रहा। इसमें होल्ड पर रखे गए करीब १०० तबादलों की समीक्षा कर रिक्त स्थान पर पूर्ति का निर्णय लिया गया।
आदेश अनुसार कार्रवाई
ऑनलाइन आवेदन, प्रभारी मंत्री के अनुमोदन पर हुए तबादलों कार्यमुक्त और कार्यभार ग्रहण करने की अड़चन को विभाग द्वारा दूर करने की प्रक्रिया जारी है। इसमें लोक शिक्षण संचालनालय के आदेश का पालन किया जा रहा है।
-रमा नहाटे जिला शिक्षा अधिकारी उज्जैन.

Updated On:
24 Aug 2019, 10:52:43 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।