गणेशोत्सव की तैयारियां पूर्ण, शुभ मुहर्त में होगी प्रतिष्ठा

By: Sunil Mishra

Published On:
Sep, 12 2018 10:37 PM IST

  • दानह में उत्सव की शुरुआत 81 वर्ष पूर्व हुई


सिलवासा. विघ्नहर्र्ता महागणपति का जन्मोत्सव गुरुवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। गणपति पंडालों में सपरिवार विराजमान हो जाएंगे। आयोजको ने पूजा अर्चना एवं स्थापना की तैयारियां पूर्ण कर ली हैं। अधिकांश पंडाल विद्युत रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगा उठे हैं। पिपरिया, आमली, टोकरखाड़ा, उलटन फलिया, सुन्दरवन सोसायटी, किलवणी नाका, बस्ता फलिया, डोकमर्डी, 66 केवी रोड़, भुरकुड़ फलिया, इन्दिरा नगर में सार्वजनिक गणेश मंडलों में 11 दिनों तक पूजा चलेगी। कई पंडालों में बुधवार को मूर्तियों का प्रवेश विधि व पूजन हुआ।
दादरा नगर हवेली में गणेशोत्सव की शुरुआत 81 वर्ष पूर्व आमली गायत्री शक्तिपीठ मंदिर से हुई थी। वर्ष 1937 में धार्मिक आस्था एवं भक्ति की अलख जगाने के लिए तत्कालीन हिन्दू महासभा प्रमुख रामचंद्र महादेव पटवर्धन के मार्गदर्शन में रामजी रामेश्वर मंदिर में गणपति महोत्सव आरम्भ हुआ था। बाद में धीरे-धीरे 1960 तक सभी गांवों में गणेश की पूजा अर्चना होने लगी। इस बार शहर के 50 से ज्यादा बड़े पंडालों में पार्वती पुत्र की पूजा होगी।

पूजा के साथ धार्मिक लीला मंचन

किलवणी नाका सार्वजनिक गणेशोत्सव में पूजा के साथ धार्मिक लीला मंचन रखा है। यहां 11 दिन तक पूजा-अर्चना, नाट्य चित्रण, प्रसाद, भजन-कीर्तन होंगे। पिपरिया गणेश मंडलम ने देवस्थान से दादरा मुख्य रोड तक मार्ग रंग-बिरंगी रोशनी से सजाया है। बीच बीच में विद्युत टॉवर बनाए हैं, जहां शाम होते दर्शकों को भगवान के कई रूप देखने को मिलेंगे। सिद्धिविनायक मित्र मंडल द्वारा पिपरिया में 11 दिन तक पूजा अर्चना, भजन-संगीत व रात्रि को धार्मिक कार्यक्रम रखे गए हैं। शहरी विस्तार में सम्मिलित दादरा, नरोली, मसाट, सामरवरणी, रखोली व खानवेल में भी गणेश पूजा के बड़े पंडाल सजे हैं।
दपाड़ा, आंबोली, सुरंगी, मांदोनी, सिंदोनी, बेड़पा, दुधनी, कौंचा में विघ्नहर्ता के पंडाल तैयार किए गए हैं। मानसून में अच्छी बारिश से आदिवासी अत्यंत खुश हैं, जिससे गांव-गांव में मंदिर सज गए हैं। औद्योगिक इकाइयों में भी गणेशोत्सव की तैयारी पूर्ण कर ली हैं। प्रगृति इंडस्ट्रीज मसाट, आरआर काबेल मधुबन रखोली, केएलजे सिली, जयकॉर्प, आलोक सिटी में गौरीपुत्र की स्थापना होगी।


सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए
गणेशोत्सव में पुलिस ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं। शांतिपूर्ण पूजा अर्चना के लिए बड़े पंडालों पर जवानों की ड्यूटी लगा दी है। विसर्जन के दौरान अथाल, डोकमर्डी, पिपरिया, बाविसा फलिया में अतिरिक्त जवान तैनात रहेंगे। दादरा, नरोली, मसाट, रखोली, कराड़, मधुबन में नदी नालों के विभिन्न घाटों पर पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ा दी है। थानाधिकारी केबी महाजन ने बताया कि गणेशोत्सव में अनैतिक कृत्यों पर पुलिस की नजर रहेगी। प्रतिमा विसर्जन के दौरान अतिशबाजी व नशे के सेवन पर रोक लगा दी है।


गणेश पुराण 14 से
आदिवासी समाज उत्कर्ष संघ ने बालदेवी में गणेश पुराण कथा का आयोजन किया है। कथावाचन के लिए गिरीशभाई शास्त्री को आमंत्रित किया है। कथा रोजाना शाम 6 बजे से रात 9 बजे तक होगी। धर्मप्रेमियों को कथा सुनने का लाभ उठाने का आग्रह किया है।

Published On:
Sep, 12 2018 10:37 PM IST