पावर हाउस के अंदर काम कर रहा था संविदाकर्मी, अचानक खम्भे से आयी तेज आवाज, और फिर हुआ कुछ ऐसा कि...

By: Nitin Srivastva

Updated On:
18 Apr 2019, 11:31:09 PM IST

  • पावर हाउस के अंदर काम कर रहा था संविदाकर्मी, अचानक खम्भे से आयी तेज आवाज, और फिर हुआ कुछ ऐसा कि...

सीतापुर. पावर हाउस में संविदा कर्मी के पद पर तैनात एक युवक की करंट लगने से मौत हो गयी। 16 दिन तक युवक लखनऊ के अस्पताल में ज़िन्दगी और मौत से जंग लड़ता रहा और आज सुबह उसने दम तोड़ दिया। बेटे की मौत से नाराज परिजनों ने शव को पावर हाउस के सामने रखकर हंगामी प्रदर्शन किया और मुआवजे की मांग की। घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने मुआवजा दिलाने की बात कही जिस पर परिजनों ने हंगामा शांत किया।


करंट लगने से हुयी मौत

मामला महमूदाबाद कोतवाली क्षेत्र के कस्बे का हैं। यहां के विधुत उपकेन्द्र पर तैनात कस्बे का ही निवासी नीरज बीती 1 अप्रैल की दोपहर पॉवर हाउस में लगे बिजली के खम्भे पर चढ़कर लाइन को दुरुस्त कर रहा था। इसी दौरान अचानक लाइन में करंट आ जाने से उसे करंट लग गया और अचानक नीचे आ गिरा। घायल संविदाकर्मी को इलाज के लिए सीएचसी में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत गंभीर देखते हुए उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया।


16 दिन बाद हुयी युवक की मौत

ट्रामा सेंटर में संविदाकर्मी 16 दिन तक ज़िन्दगी और मौत की जंग लड़ता रहा और इलाज के दौरान युवक की मौत हो गयी। युवक की मौत के बाद परिजन उसका शव लेकर पॉवर हाउस पहुंचे और शव रखकर हंगामी प्रदर्शन करते हुए मुआवजे की मांग की। हंगामे की जानकारी मिलते ही विधुत विभाग के वरिष्ट अधिकारी और एसडीएम मौके पर पहुंचे और परिजनों को शांत कराया। अधिकारियों के मुताबिक मृतक के परिजनों को दुर्घटना बीमा योजना के तहत 5 लाख रूपये की आर्थिक मदद प्रदान की जायेगी।

Updated On:
18 Apr 2019, 11:31:09 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।