अनुशासित स्कूल बिगाड़ रहे हैं स्टूडेंट्स का भविष्य, शोध में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

By: Deepika Sharma

Updated On: Jul, 17 2019 06:06 PM IST

    • School Discipline: स्कूलों की सख्ती बिगाड़ रही है बच्चों का भविष्य
    • शोध में स्कूल के स्टूडेंट्स के व्यवहार से मिली चौंकाने वाला खुलासा

नई दिल्ली। माता अपने बच्चों को उन स्कूलों में भेजना ज्यादा पसंद करते हैं, जिनमें कड़ा अनुशासन ( Disciplined ) होता है। वो ये नहीं जानते हैं कि यही कड़ा अनुशासन किशोरावस्था ( adolescence ) में कदम रखने वाले उनके बच्चों पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। इससे वो गलत रास्ता ( wrong way ) चुनने पर मजबूर हो सकते हैं। उनका भविष्य ( Publishers ) भी खराब हो सकता है। ऐसा अमरीका में किए गए एक शोध ( search ) में सामने आया है।

अमरीका के शोधकर्ताओं ने हाल ही में एक अध्ययन ( study ) किया है। अध्ययन में उन्होंने चिंता जताते हुए कहा है कि जिन स्कूलों में बच्चों पर सख्त अनुशासन अपानाएं जाते हैं, उन स्कूलों के बच्चे अनुशासन मानने के बजाए गलत राह अपनाते हैं। यह बेहद हानिकारक ( Harmful) साबित हो सकता है। इससे बच्चे गलत काम करना शुरू कर देते हैं। सकारात्मक चीजों को छोड़कर नेगेटिक चीजों के बारे में सोचने और करने लगते हैं। उस वक्त उन्हें वहीं सही लगता है। इसका असर ये होता है कि वो पहले घर में माता-पिता से छुप-छुपाकर गलत काम करते हैं। फिर आस-पड़ोस में हमले, चोरी और ड्रग्स बेचने जैसे अपराध करने लगते हैं।

 

school

शोध में सामने आया कि जिन स्कूलों में अधिक अनुशासन रखा जाता है, वहां के स्टूडेंट्स अधिक हिंसात्मक और आपराधिक प्रवृत्ति के हो जाते हैं। जैसे-जैसे उनकी उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे वे हिसंक और आक्रोशित होने लगते हैं।

 

school

बचने के उपाय
माता-पिता अगर चाहते हैं कि बच्चे संस्कारी और शांत स्वभाव के बनें, तो वे अपने बच्चों को कभी भी ऐसे स्कूल में न भेजें, जहां पर सख्त अनुशासन हो। शोध में ये सुझाव दिया गया है कि स्कूलों को भी स्टूडेट्स की काउंसिलिंग कराते रहना चाहिए। इससे उनके मन की बात जानी जा सकती है और उन्हें समय रहते सही दिशा दिखाई जा सकती है।

Published On:
Jul, 17 2019 05:54 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।