जगन्नाथ रथयात्रा: बलराम-सुभद्रा के साथ शहर भ्रमण को निकले पालनहार, शोभायात्रा में विदेशी भक्त जमकर थिरके

By: Suresh Kumar Mishra

Published On:
Sep, 12 2018 12:16 PM IST

  • प्रमुख मार्गों से निकली सवारी, भगवान का रथ खींचने भक्तों में लगी होड़

सतना। भगवान जगन्नाथ मंगलवार को बलराम और सुभद्रा संग रथ पर सवार होकर शहर भ्रमण को निकले। उनके रथ को भक्तों की टोलियों ने खींचा। भगवान के शहर भ्रमण के दौरान लोगों में उत्साह देखते बन रहा था। आयोजन अंतरराष्ट्रीय कृष्णा भावनामृत संघ इस्कॉन के तत्वावधान में किया गया। जगन्नाथ महोत्सव के अवसर पर शहर में शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा जयस्तंभ से शुरू हुई, जो पन्नीलाल चौक, अस्पताल चौक, कृष्णनगर रोड होते हुए इस्कॉन मंदिर पहुंची।

दिव्य अभिषेक से शुरुआत
जयस्तंभ चौक पर सुसज्जित मंच पर निर्मित दिव्य मंदिर में भगवान जगन्नाथ, बलदेव व सुभद्रा के अर्चाविग्रह विराजे गए। इस्कॉन मंदिर प्रभारी प्राणप्रिय दास, दामोदर दास व प्रहलाद दास ने वैदिक विधान से पूजा अर्चना की। साथ ही भगवान का दिव्य अभिषेक किया। इसके बाद शोभायात्रा कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।

विदेशी भक्तों ने बांधा समां
शोभायात्रा में विदेशी भक्तों ने भी भाग लिया। इसमें इटली, फिलीपीन्स, ब्राज़ील व फ्रांस के भक्त शामिल रहे। साथ ही वृंदावन से इस्कॉन भक्तों का दल भी हरे कृष्णा संकीर्तन करते हुए कार्यक्रम में हिस्सा लिया। वृन्दावन से आई संकीर्तन मंडली का नेतृत्व विख्यात भजन गायक रघुनाथ दास कर रहे थे। इस्कॉन सेक्रेटरी मनोज दुबे ने बताया कि इस अवसर पर कृष्ण माहेश्वरी, विधायक शंकरलाल तिवारी, उत्तम बैनर्जी, रामौतार चमडिय़ा, लखन लाल, मणिकांत माहेश्वरी, मनीष तिवारी, रत्नाकर चतुर्वेदी, राजीव खरे शामिल रहे। सामाजिक संगठनों ने भी हिस्सा लिया, इसमें हिंदू पर्व समन्यवय समिति, पतंजलि योग समिति, वैश्य समाज, ब्राह्मण समाज, संस्कार भारतीय, आरोग्य भारती, व्यापारी संघ, विंध्य चेम्बर ऑफ कॉमर्स, कायस्थ समाज, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल शामिल रहे।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम
इस दौरान रंगमंचीय कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसमें व्यंकटेश हाइस्कूल, बालाजी कॉन्वेंट स्कूल, केंद्रीय विद्यालय के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। उन्होंने मनमोहक प्रस्तुतियां दी। आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के भक्तों द्वारा शानदार भजनों की प्रस्तुति दी गई। कार्यक्रम का संचालन डॉ. प्रज्ञा द्विवेदी ने किया।

Published On:
Sep, 12 2018 12:16 PM IST