रतलाम से बाढ़ पीडि़तों के लिए कपड़े लेकर वाहन रवाना

By: harinath dwivedi

Published On:
Sep, 11 2018 05:18 PM IST

  • कलेक्टर ने दिखाई हरी झंडी, मदद के लिए अब भी आगे आ रहे लोग

रतलाम। जिले की सामाजिक संस्थाएं भी केरल बाढ़ पीडि़तों की सहायता के लिए अब भी राहत सामग्री एकत्र करने में लगी हुई है। इसी के चलते सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर में रतलाम की दृश्य वेलफेयर सोसायटी के द्वारा एकत्र किए गए वस्त्र से भरे लोडिंग वाहन को कलेक्टर रुचिका चौहान ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। एकत्रित किए गए इन वस्त्रों को रेलवे के माध्यम से केरल पहुंचाया जाएगा।
उक्त संस्था द्वारा केरल बाढ़ पीडि़तों के लिए आठ हजार जोड़ी वस्त्र संग्रहण किए गए है। वस्त्रों को प्रेस कराकर थैलियों में पेक किया गया है। एसपी गौरव तिवारी द्वारा कपड़े की 2 हजार थैलियों का सहयोग किया गया,। वहीं डॉ. दीप व्यास ने भी १५ कंबल व 15 लुंगी का सहयोग दिया। संस्था के अध्यक्ष नवदीप बैरागी ने बताया कि एकत्रित वस्त्र केरल के कन्नूर जिले में भिजवाए जा रहे हैं। संस्था ने वस्त्र एकत्रित करने के लिए 6 स्थानों पर संग्रहण केंद्र बनाए थे। इस कार्य में जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक रत्नेश विजयवर्गीय, शिवशंकर शर्मा के अतिरिक्त संस्था के कार्यकर्ता दिव्यांशु जोशी, अमान खान, शिवानी शर्मा, नाजमा सुल्तान, पूजा जटिया सहित कई लोग उपस्थित रहे। वाहन को रवाना किए जाने के दौरान जिला पंचायत सीईओ सोमेश मिश्रा भी मौजूद थे।
आरइएस ने दिए 56 हजार रुपए
कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिले के ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों द्वारा सहयोग के रूप में दी गई 51 हजार रुपए की राशि कार्यपालन यंत्री अनूप मिश्रा ने कलेक्टर रुचिका चौहान को उपलब्ध कराई। जिला पंचायत सीईओ सोमेश मिश्रा भी इस अवसर पर मौजूद थे। आरईएस ने पूर्व में भी पांच हजार रुपए की राशि उपलब्ध करा चुका है। एकत्रित किए गए इन वस्त्रों को रेलवे के माध्यम से केरल पहुंचाया जाएगा। उक्त संस्था द्वारा केरल बाढ़ पीडि़तों के लिए आठ हजार जोड़ी वस्त्र संग्रहण किए गए है। वस्त्रों को प्रेस कराकर थैलियों में पेक किया गया है।

Published On:
Sep, 11 2018 05:18 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।