PoK से आए लोगों को मोदी सरकार का तोहफा, परिवार बसाने को मिलेंगे पांच-पांच लाख

  • मोदी सरकार कैबिनेट में बड़ा फैसला
  • 5300 कश्मीरी परिवारों को होगा फायदा
  • PoK से आकर अलग-अलग राज्यों में बसे थे ये लोग

मोदी सरकार ने कैबिनेट की बैठक में PoK से आए लोगों को भी दिवाली से पहले बड़ा तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से विस्थापित होकर भारत के अलग-अलग राज्यों में बसे 5300 कश्मीरी परिवारों को साढ़े 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का फैसला किया है। सरकार चाहती है कि ये लोग कश्मीर में बसें। लंबे समय से ये मांग उठ रही थी।

बता दें, इन 5300 परिवारों का नाम विस्थापितों की लिस्ट में शामिल नहीं था। सरकार ने निर्णय लिया है कि इन लोगों के नाम सूची में शामिल करके इन्हें आर्थिक सहायत दी जाएगी।

बता दें कि इन 5300 परिवारों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है। इनमें से कुछ परिवार 1947 में बंटवारे के समय आए, कुछ कश्मीर के विलय के बाद और कुछ पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से भारत में आए थे। इनमें से कुछ लोग भारत के अन्य राज्यों में भी बस गए थे।

PoK से आए परिवारों की आर्थिक सहायता के लिए प्रधानमंत्री ने 2016 में ही घोषणा कर दी थी। लेकिन तब इन 5300 परिवारों को फायदा नहीं पहुंच पाया था। सरकार ये राशि परिवार बसाने के लिए दे रही है।

असल में 5300 परिवार बंटवारे के बाद या कश्मीर के विलय के बाद पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को छोड़कर भारत आए थे। लेकिन तब कश्मीर में ना रुककर देश के अन्य हिस्सों में बसे। बाद में ये दोबारा जम्मू-कश्मीर गए। जिस कारण इनके पास कोई अधिकार नहीं था और इन्हें कोई सरकारी लाभ भी नहीं मिल पाया।

गौर हो, जम्मू-कश्मीर में पहले वही नागरिक वोट दे सकता था या फिर चुनाव लड़ सकता था, जो वहां का मूल निवासी हो। बंटवारे के बाद जम्मू-कश्मीर में आगर बसे लोगों को वोट देने का अधिकार नहीं था। इसके अलावा कुछ जाति विशेष के लोगों को भी वोट देने का अधिकार नहीं था।

अब जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटा दी गई है, जिस कारण ये नियम अब निष्प्रभावी हो गए हैं। अब इन 5300 परिवारों को भी ये लाभ मिलेगा, जो पुर्ननिवास भत्ते के रूप में शुरू हुआ था।

Show More
Navyavesh Navrahi
और पढ़े
Web Title: Modi government's gift to People from PoK, will get five lakh to get family settled
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।