शाला प्रभारियों को बांटी गई पुस्तकें

By: Anil Kumar Srivas

Published On:
Sep, 12 2018 11:42 AM IST

  • छग उर्दू अकादमी का आयोजन

मुंगेली. बीआर साव शाला स्थित पाठक भवन सभा कक्ष में छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी द्वारा उर्दू तालीम और उर्दू साहित्य के प्रोत्साहन एवं विकास के लिए एक दिवसीय उर्दू भाषा विकास उत्सव मोटीवेशन के सैयद सईद अहमद द्वारा आडियो-वीडियो के माध्यम से उर्दू में अपना मकाम पैदा करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मंत्री पुन्नू लाल मोहले रहे। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता छग उर्दू अकादमी के अध्यक्ष मो. अकरम कुरैशी ने की।
कार्यक्रम में सभी अतिथियों/ वक्ताओं ने गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल उर्दू की तालीम पर रोशनी डाली। वहीं अकादमी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में उर्दू अकादमी द्वारा अनेक शालाओं के प्रभारियों को उर्दू पुस्तकों का सेट वितरित किया गया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि सांसद लखलाल साहू, छग उर्दू अकादमी उपाध्यक्ष शफीक अहमद, सदस्य सै. उस्मान अली, सरपंच संतूसिंह व देवशंकर आदि मौजूद थे। कार्यक्रम में एनके चंद्रा जिला शिक्षाधिकारी, शैलेश पाठक मोहन भोजवानी, कलीम बार्गडी, अब्दुल सत्तार खान, अमान खान, अब्दुल हलीम खान, रफीक खान, सबीरूद्दीन जिला उर्दू शिक्षा प्रभारी, अशोक सोनी व रामनाथ गुप्ता ने उर्दू शिक्षा के बारे में अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर फिरोज खान, अजीमुद्दीन, कांटूमल दादवानी, प्रवीण सोनी, आनंद देवांगन, रामशरण यादव, राजकुमार मोहले, पंचराम, नकुल, आजम खां, निसार हुसैन खोखर, नदीम खान, एहसान अली, शराफत अली, अशरत अली, अब्बास खान, मो. शमीम, जावेद खान, त्रिभुवन, सलीम खान, रियाज खान, नसीम बेग, जरीना बेगम, जैबुन्निशां, परवीन बेगम, नजमा बेगम, तोशीबा परवीन, सायरा बानो, मलिका परवीन, मेहरुन्निशां, ईकरा परवीन व बुसरा परवीन सहित सभी वर्गों के लोग उपस्थित थे।
पर्वाधिराज पर्यूषण महापर्व की आराधना जारी: स्थानीय जैन मंदिर में पर्वाधिराज पर्यूषण महापर्व की आराधना इन दिन दिनों तप जप और संयम के माध्यम से निरंतर जारी है। विगत दिवस भगवान महावीर का जन्म कल्याणक अपूर्व हर्षोल्लासमय वातावरण में साध्वीवृंद के मार्गदर्शन में मनाया गया।
मालूम हो कि पयूर्षण महापर्व के दौरान कल्पसूत्र वाचन के अंतर्गत ***** सुदी एकम को भगवान महावीर के जन्म का वृतांत सर्वसंघ को श्रवण कराया जाता है। इस दिवस प्रभु का जन्म महोत्सव धूमधाम से मनाया जाता है। स्थानीय जैन मंदिर में चातुर्मासिक आराधना हेतु विराजित जैन साध्वी दर्शनप्रभा श्री सहित 3 साध्वियों के मार्गदर्शन में मंदिर में विविध आयोजन हुए। मुख्य कार्यक्रम के अंतर्गत भगवान की माता त्रिशला रानी द्वारा देखे गए चौदह स्वप्नों की पूजा कर, भगवान को पालना में विराजित कर से जन्मोत्सव मनाया गया। भगवान का जन्म वृतांत सुनने के पश्चात् पालना की भक्ति का लाभ खेमराज धींगड़मल छाजेड़ परिवार को प्राप्त हुआ। मंदिर से श्रद्धालु नाचते गाते हुए शोभायात्रा छाजेड़ परिवार के निवास पर पहुंची। वहीं मंदिर में प्रभु प्रतिमा सहित मंदिर परिसर की आकर्षक साज सज्जा की गई। साज-सज्जा में प्रिया चोपड़ा, सुरभि कोटडिय़ा, हर्षालोढ़ा, अचला कोठारी, श्रेया बैद, पायल छाजेड़ आदि शामिल रहीं। विदुशी जैन साध्वी दर्षनप्रभाश्री, ज्ञानप्रभाश्री व चारित्रप्रभाश्री की पावन निश्रा में पर्यूर्षण की आराधना के अंतर्गत गुरुवार को संवत्सरी महापर्व का आयोजन होगा तथा 15 सितम्बर को तपस्वियों का बरघोड़ा (जुलूस) निकाला जाएगा।

Published On:
Sep, 12 2018 11:42 AM IST