BIG Politics: कटारिया ने कांग्रेस में किसको चांटा मारने का किया इशारा, जानिए कौन है निशाने पर...

By: Zuber Khan

Published On:
Feb, 06 2019 09:00 AM IST

  • विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार घटिया राजनीति कर रही है।

कोटा. विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि यह लोकतंत्र का दुर्भाग्य ही है कि कॉलेज से बाहर छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार घटिया राजनीति कर रही है। यह छोटी सोच का परिचायक है।

OMG : Patrika .com/kota-news/mother-daughter-murder-in-kota-double-murder-in-kota-4064554/" target="_blank">कोटा में मां-बेटी की गला काट नृशंस हत्या, सरियों से फोड़ा सिर, खून से सनी दीवारें

उन्होंने कहा कि कॉलेज का यह समारोह बाहर करवाना लोकतंत्र का अपमान है। जिस किसी ने यह प्रयास किया है, उसे समझना चाहिए। लोकतंत्र का मान- सम्मान रखना जरूरी है। हार और जीत, सिक्के के दो पहलु है, लेकिन अभिमान में नहीं आना चाहिए। लोकतंत्र के इन हत्यारों को एक चाटा मारो।

Read More: सिर पर था खून सवार जो दिखा काटते चले गए, पढि़ए कत्ल से पहले मां-बेटी के संघर्ष की कहानी...

बहरी-गूंगी व लोकतंत्र की हत्यारी सरकार
उन्होंने मोदी सरकार के बारे में कहा कि मोदी ने प्रधानमंत्री रहते देश की सेवा की। अभी तक एक छुट्टी नहीं ली। देश की सुरक्षा को मजबूत किया। आए दिन पाकिस्तान अंदर घूस जाता था, लेकिन अब सभी को कौने पर कर दिया। कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा कि छोटे दिमाग के आधार पर यहां कॉलेज तक आ गए। इस बहरी-गूंगी व लोकतंत्र हत्यारी सरकार को यह बातने का प्रयास करें कि कोई गलत कदम उठाया तो परिणाम आगे से अच्छा नहीं होगा।

Read More: डबल मर्डर: खून से सनी मां-बेटी की लाश देख कांप उठा कलेजा, पढि़ए, हैवानों ने कैसे मचाया कोहराम

राजकीय कला महाविद्यालय का मंगलवार को छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह बजरंग नगर क्षेत्र स्थित दाधीच छात्रावास परिसर में हुआ। कटारिया ने कहा कि विद्यार्थी परिषद के संस्कारों की बदौलत ही आज में यहां खड़ा हूं। मैं आपातकाल के बाद राजनीति में आया। हम दिग्भ्रमित के आधार पर राजनीति में युवाओं को नहीं लाते। हम पदों को ऐसा नहीं बनाते कि दो लुटरे थे, दो लुटरे और आ आओ। हम देश निर्माण वाले लोग है। हम भाजपा के पिछल्लू लोग नहीं है। विद्यार्थियों का अहित करने वाली हमारी ही सरकार के खिलाफ तक हो गए। हम निष्ठावान कार्यकर्ता हैं। दुर्भाग्य है कि कुछ लोगों ने राजनीति को व्यवसाय बना दिया।

OMG: दो दोस्तों को रात के अंधेरे में हाइवे पर मिली ऐसी दर्दनाक मौत कि देखने वालों की कांप उठी रूह

अटलजी जैसा बनो
नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि अटल बिहारी वायपेयी के जीवन को समझने का प्रयास करो। वे लोकसभा में एक वोट से हारे थे। अगर चाहते तो दोबारा विश्वास प्रस्ताव के लिए लिख सकते थे। राष्ट्रपति को त्यागपत्र दे दिया। यह लोकतंत्र की मर्यादा है। उन्होंने इंदिरा गांधी के आपतकाल का भी उदाहरण दिया। कोर्ट के बावजूद इंदिरा गांधी ने त्याग पत्र नहीं दिया। बल्कि आपातकाल लगा दिया।

 

हम जेल जाने से नहीं डरते

कटारिया ने कहा कि हमें जेल भेजने के लिए सरकार धमका रही है। हम जेल जाने से नहीं डरते। हम असूलों के लिए लड़ते हैं। राजनीति में चापलूसी के लिए नहीं आए।

 

पहली बार ऐसा देखा

कॉलेज प्रशासन की अनुमति नहीं मिलने पर छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह कॉलेज के बाहर दाधीच छात्रावास में करना पड़ा। मुख्य अतिथि कटारिया बोले कि पहली बार देखा ऐसा शपथ ग्रहण समारोह जो कॉलेज के बाहर हुआ। कटारिया ने छात्रसंघ अध्यक्ष रवि गुर्जर व महासचिव प्रियंक मिश्रा को पद की शपथ दिलाई। समारोह में उपाध्यक्ष पवन मीणा व संयुक्त सचिव पूजा नागर नजर नहीं आए, इसकी भी चर्चा रही। कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा ने कहा कि प्राचार्य से जब अनुमति नहीं देने का कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि सरकार का आदेश है कि कार्यक्रम नहीं कराया जाए। वर्तमान सरकार चुनाव से लेकर लोगों को बरगलाने व झूठ बोलकर छात्र राजनीति को कलंकित कर रही है। कार्यक्रम में छगन माहुर, प्रहलाद पंवार, नीतिन नंदवाना, सचिन चौधरी, गुंजन झाला, सोनिया राठौर, संगठन मंत्री पूरण भी मौजूद रहे। कार्यक्रम के बाद छात्रसंघ पदाधिकारियों ने सचिवालय का फीता काटकर उद्घाटन किया।

 

शिकायत मिलती है तो एक्शन लेंगे
सरकार के आदेश के अनुसार कॉलेज परिसर में किसी प्रकार का छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह नहीं हुआ। छात्रसंघ पदाधिकारियों में ही आपसी खींचतान के कारण मना किया गया। समारोह करने से कॉलेज अखाड़ा बन जाएगा। इस कारण अनुमति नहीं दी। पदाधिकारियों ने बिना अनुमति सचिवालय का उद्घाटन किया है तो उसकी जानकारी नहीं है। शिकायत मिलती है तो एक्शन लेंगे।

- जीएल मालव, प्राचार्य, राजकीय कला महाविद्यालय

Published On:
Feb, 06 2019 09:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।