गैर RAS से IAS पदोन्नति पर केट में सुनवाई शुरू, सरकारी कर्मचारियों पर होगा असर

By: Sunil Sharma

Published On:
Oct, 17 2018 04:27 PM IST

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा में पदोन्नति को लेकर राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी व गैर प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों में टकराव बढ़ गया है।

भारतीय प्रशासनिक सेवा में पदोन्नति को लेकर राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी व गैर प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों में टकराव बढ़ गया है। इस मामले में आरएएस अधिकारी महेन्द्र पारख पहले भी खुलकर विरोध जता चुके हैं, अब उन सहित २३ आरएएस अधिकारियों ने केन्द्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण का दरवाजा खटखटाया है। न्यायाधिकरण ने इस मामले में मंगलवार को सुनवाई की और मुख्य सचिव व कार्मिक विभाग को जवाब के लिए २ सप्ताह का समय दिया।

आरएएस अधिकारियों की ओर से अधिवक्ता तनवीर अहमद ने न्यायाधिकरण को बताया कि गैर प्रशासनिक सेवा से आइएएस में चयन केवल विशेष परिस्थितियों में ही किया जा सकता है, पर सरकार राजनीतिक कारणों से इस पदोन्नति के जरिए चहेतों का चयन करवा लेती है। अधिकांश राज्यों में गैर प्रशासनिक सेवा से आइएएस चयन पर रोक है।

२९ साल की सेवा व उत्कृष्ट सेवा रिकॉर्ड वाले आरएएस उपलब्ध हैं, इसके बावजूद सरकार ने अन्य सेवा के अधिकारियों के लिए सेवाकाल १७ साल कर दिया है। आचार संहिता के बावजूद आनन फानन पदोन्नति बोर्ड की बैठक की तैयारी की जा रही है, इसके लिए निर्वाचन आयोग की सहमति भी नहीं ली गई है।

Published On:
Oct, 17 2018 04:27 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।