Ganapati Poojan method : प्रथम पूज्य को कर लें प्रशन्न, समस्त बाधाएं हो जाएंगी दूर

By: Tarunendra Singh Chauhan

Published On:
Jul, 06 2019 05:50 PM IST

  • प्रथम पूज्य को कर लें प्रशन्न, समस्त बाधाएं हो जाएंगी दूर

जबलपुर. प्रथम पूज्य भगवान गणेश शुभ और लाभ के दाता हैं, वह अपने भक्तों की समस्त बाधाएं हर कर रोग-व्याधि और दरिद्रता का हरण कर लेते हैं। पुराणों और शास्त्रों के अनुसार भगवान गणेश की आराधना का दिन बुधवार है। इस दिन जो श्रद्धालु मन से गजानन का अर्चन करता है, उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। शास्त्रों में गजानन की आराधना का विशेष महत्व है। प्रथम पूज्य गौरी सुत की पूजा के बिना किसी भी देवी-देवता की पूजा पूर्ण नहीं मानी जाती है।

भगवान लंबोदर को प्रसन्न करने ये हैं उपाय

बुधवार के दिन सुबह स्नान करके गणपति को दूर्वा (दूब) की 11, 21 या 51 गांठ चढ़ाएं. इससे जल्द शुभ फल मिलने शुरू हो जाएंगे। इसके साथ ही साथ ही इस मंत्र का जाप करें ।

मंत्र
ऊँ गं गणपतये नमो नम: मत्र का जाप करें तो अच्छा रहेगा।

कोई काम करते हैं और वह पूर्णता तक नहीं पहुंचता है और आप हर काम में असफल हो रहे हैं तो बुधवार के दिन गणपति के इस मंत्र का विधि-विधान के साथ जाप करें, जल्द ही आपके बिगड़े काम बनने लगेंगे।

मंत्र
वक्रतुण्ड महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ
निर्विघ्नं कुरुमे देव सर्वकार्येषु सर्वदा

घर में नकारात्मक ऊर्जा होने का संदेह है और कई उपाय करने के बाद भी समस्या हल नहीं हुई तो आप बुधवार के दिन भगवान गजानन की श्वेत मूर्ति घर पर स्थापित करें। ऐसा करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा पूर्ण रूप से बाहर निकल जाएगी और सकारात्मक ऊर्जा आनी शुरू हो जाएगी।

ज्योतिषाचार्य जनार्दन शुक्ल कहते हैं कि धन संबंधी समस्या से जूझ रहे हैं, अधिक मेहनत करने पर भी प्रतिफल अच्छा नहीं मिल रहा है तो आपको गणपति की अर्चना करनी चाहिए। बुधवार के दिन भगवान गजनान की विधि-विधान से पूजन करने के बाद घी और गुड़ का भोग लगाएं और पूजन से उठने के बाद गौमाता को खिलाएं। इससे आपकी समस्याएं दूर हो जाएंगी। इसके साथ ही गणेश कुबेर मंत्र का जाप करें। इससे भगवान गणेश जल्द प्रशन्न हो जाते हैं।

मंत्र
ऊँ नमो गणपतये कुबेर येकद्रिका फट् स्वाहा।

हिन्दू धर्म में गाय को माता कहा गया है। बुधवार के दिन गौसेवा करने से प्रथम पूज्य की कृपा के साथ ही अन्य सभी देवी-देवताओं की कृपा बरसती है। भगवान गणेश को सिंदूर चढ़ाना शुभ होता है। हर दिन गणपति को सिंदूर चढ़ाएं। यदि हर दिन नहीं कर पाते तो कम से कम बुधवार के दिन गणपति को सिंदूर चढ़ाकर उनकी कृपा प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ इस मंत्र का जाप करेंगे तो और अच्छे परिणाम मिलेंगे।

मंत्र
सिन्दूरं शोभनं रक्तं सौभाग्यं सुखवर्धनम
शुभदं कामदं चैव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम।

गणपति को दूर्वा के अलावा शमी के पत्ते भी पसंद हैं। इसलिए शमी के पत्तों का अर्पण कर भगवान गणेश की कृपा प्राप्त कर सकते हैं। शमी की पत्ते अर्पण करने से बुद्धि तेज होती है और सारी बाधाएं दूर होने लगती हैं।

Published On:
Jul, 06 2019 05:50 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।