कांग्रेस ने खेला ओबीसी- पाटीदार कार्ड

By: Pushpendra Rajput

|

Updated: 04 Apr 2019, 09:57 PM IST

Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

अहमदाबाद. गुजरात में 23 अप्रेल को होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नामांकन दाखिल करने का गुरुवार को अंतिम दिन था। इसके साथ ही कांग्रेस-भाजपा की स्थिति अब साफ हो गई है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही प्रमुख दलों ने सभी प्रत्याशियों के नाम घोषित दिए। बाकी सभी अपने नामांकन दाखिल कर दिए।
लोकसभा चुनाव में इस बार कांग्रेस ने ओबीसी और पाटीदार कार्ड खेला है, जहां आठ ओबीसी प्रत्याशियों को टिकट दिया है। वहीं आठ पाटीदारों पर कांग्रेस ने भरोसा किया। वहीं एक मुस्लिम को प्रत्याशी बनाया है। वहीं एक बनिया प्रत्याशी बनाया गया है।
अब ओबीसी की बात की जाए जूनागढ़ से पूंजा वंश, नवसारी से धर्मेश पटेल, सुरेन्द्रनगर से सोमा पटेल हैं, जिनका कोली समुदाय से ताल्लुक हैं। वहीं पंचमहाल से वी.के. खांट का क्षत्रिय पिछड़ा वर्ग से ताल्लुक हैं। वहीं जामनगर से मुलूभाई कंडोरिया का अहीर, बनासकांठा से परथी भटोळ का चौधरी, पाटण से जगदीश ठाकोर व साबरकांठा से राजेन्द्र ठाकोर - ठाकोर समाज से ताल्लुक रखते हैं।
पाटीदार आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में कुछ हद तक कांग्रेस को इसका फायदा मिला था। इसके चलते लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने भरोसा किया। जहां राजकोट से ललित कगथरा, पोरबंदर से ललित वसोया, वडोदरा से प्रशांत पटेल, अहमदाबाद पूर्व से गीताबेन पटेल, अमरेली से परेश धानाणी, मेहसाणा से ए.जे. पटेल, सूरत से अशोक अधेवडा और भावनगर से मनहर पटेल को प्रत्याशी बनाया है।
वहीं अनुसूचित जनजाति (एसटी) सुरक्षित सीट पर जहां छोटा उदेपुर से रणजीतसिंह राठवा, बारडोली से तुषार चौधरी, वलसाड से जीतूभाई चौधरी और दाहोद से बाबू कटारा को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं अनुसूचित जाति (एससी)सीट पर जहां कच्छ से नरेश महेश्वरी और अहमदाबाद पश्चिम राजू परमार को उतारा है।
इसके अलावा दो क्षत्रिय को प्रत्याशी बनाया है, जहां आणंद से भरतसिंह सोलंकी और गांधीनगर से सी.जे. चावड़ा प्रत्याशी हैं। एक बनिया प्रत्याशी है, जो खेड़ा से बिमल शाह है और एक मुस्लिम प्रत्याशी हैं, जिसमें शेरखान को भरूच से प्रत्याशी बनाया गया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।