इस चीज़ से बनी गणेश प्रतिमा होती है अत्यंत शुभ, पूजा करने से साक्षात दिखने लगता है चमत्कार

By: Tanvi Sharma

Published On:
Sep, 05 2018 04:54 PM IST

  • इस चीज़ से बनी गणेश प्रतिमा होती है अत्यंत शुभ, पूजा करने से साक्षात दिखने लगता है चमत्कार

गणेशोत्सव पर हम सभी अपने घर में श्री गणेश की स्थापना करते हैं। गणेश जी को सभी देवताओं में प्रथमपूज्य माना जाता है। सभी मंगल कार्यों में या किसी भी पूजा में सबसे पहले गणपति जी को पूजा जाता है। इस साल गणेश चतुर्थी 13 सितंबर को मनाई जाएगी और इस दिन से गणेशोत्सव शुरु होगा। गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है, क्योंकि वे मनुष्य के सभी विघ्नों को हरते हैं और दुखों का नाश करते हैं। वेदों के ज्ञाता गणपति उत्सव पर अपने घर में गणेश स्थापना करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं जिस प्रकार अनेक प्रकार के शिवलिंग की पूजा करने से अलग-अलग फल प्राप्त होते हैं उसी प्रकार भगवान गणेश जी की भी अलग-अलग पदार्थों से निर्मित प्रतिमाओं की पूजा करने से अलग-अलग फल प्राप्त होते हैं और शुभ माने जाते हैं...

 

ganesh chaturthi

गणेशोत्सव के लिए कोई भी प्रतिमा गुरु पुष्य या रवि पुष्य में बनाएं। इसके साथ आइए जानते हैं किस पदार्थ से बनी प्रतिमा से क्या लाभ होता है। शास्त्रों के अनुसार श्री गणेश जी के चार मुख्य वर्ण होते हैं। जिसमें सामान्यतः सिंदूर वर्ण के गणेशजी पूजे जाते हैं। ये हैं चार वर्ण श्वेत वर्ण, पीत वर्ण, नील वर्ण तथा सिन्दूर वर्ण।

अभीष्ट सिद्धि के लिए यह प्रतिमा होती है लाभकारी

दुर्लभ पुराणों के अनुसार सर्प की बांबी की मिट्टी से बनी प्रतिमा अभीष्ट सिद्धि देती है। इस मिट्टी से बनी प्रतिमा को बहुत ही शुभ और मंगलकारी माना जाता है। यदि आप इस पदार्थ से बनी मूर्ति की स्थापना करते हैं तो यह आपके लिए एक सुरक्षा कवच की तरह कार्य करती है।

धन-ऐश्वर्य के लिए लाएं यह प्रतिमा

रक्तचंदन की प्रतिमा से घर के सभी विघ्न दूर हो जाते हैं और आपको धन व ऐश्वर्य प्रदान करते हैं। यदि किसी भी कार्य को करने में विघ्न आती है तो आप इस गणेशोत्सव में रक्तचंदन की प्रतिमा स्थापित करें।

धन-संपदा के लिए घर लाएं यह प्रतिमा

घर से दरिद्रता दूर करने व धन-संपदा प्राप्त करने के लिए श्वेतार्क के मूल की प्रतिमा स्थापित करें। धन संबंधी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी।

शत्रु नाश के लिए लाएं यह प्रतिमा

शत्रु के नाश के लिए आप इस गणेशोत्सव नीम काष्ठ की प्रतिमा स्थापित कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त लवण की प्रतिमा से भी शत्रुओं का नाश होता है।

सौभाग्य वृद्धि के लिए लाएं यह प्रतिमा

गुड़ की प्रतिमा से सौभाग्य में वृद्धि होती है। इसलिए सोया हुआ भाग्य जगाने के लिए इस गणेशोत्सव आप गुड़ की प्रतिमा स्थापित करें।

Published On:
Sep, 05 2018 04:54 PM IST