महिला ने पति पर लगाया उत्पीड़न का आरोप, कहा- रिश्तेदारों को दिखाता था मेरी 'वो' चीजें

By: Vinay Saxena

Published On:
Sep, 11 2018 03:22 PM IST

  • 32 साल की महिला ने अपने पति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हुए बताया कि उसके पति ने उसके साथ मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किया है।

नई दिल्ली: कहा जाता है कि शादी सात जन्मों का बंधन होता है, लेकिन आजतक तो सात साल चल जाए वो बड़ी बात लगने लगी। शादी के नाम पर धोखाधड़ी, मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न के आए दिन सामने आ रहे मामले ये साबित करने के लिए काफी हैं। ताजा मामला गुजरात का है, जहां एक महिला ने अपने पत्नी की आदतों को सुधारने के लिए उसे करीब डेढ़ साल का समय दिया, बावजूद इसके जब वह अपनी करतूतों से बाज नहीं आया तो महिला ने रिश्तो तोड़ दिया और पुलिस में शिकायत की है।

रिश्तेदारों को दिखाता था पत्नी के अंडरगारमेंट्स


32 साल की महिला ने अपने पति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते हुए बताया कि उसके पति ने उसके साथ मानसिक और शारीरिक उत्पीड़न किया है। महिला ने आरोप लगाया है कि उसका पति रिश्तेदारों के सामने उसके अंडरगारमेंट्स दिखाता है। यही नहीं सभी को बताता है कि उनके ससुर ने ये अंडरगार्मेंट्स दहेज के रूप में दिया है।

शादी के बाद से करने लगा प्रताड़ित


महिला ने बताया कि पिछले साल नवंबर में उसकी शादी पूरे रीति—रिवाजों के साथ हुई थी। शादी के बाद से पति ने उसे मानसिक और शारीरिक रूप प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था। महिला का कहना है कि शादी को बचाने के लिए उसने पति के सभी जुल्म सहे और उसके सुधरने का इंतजार भी किया। लेकिन, फरवरी में उसे घर से बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद महिला अपने मायके चली गई। वह अपने माता—पिता के साथ ही गुजर बसर कर रही थी कि अचानक उसके पति का फोन आने लगा। वह 10 लाख रुपए कैश और सोना देने की मांग करने लगा।

महिला ने लगाइर् न्याय की गुहार


अब महिला ने परेशान होकर पुलिस से शिकायत की है। महिला का कहना है कि उसे अपने पति से खतरा है। उसने पुलिस से सुरक्षा की मांग करते हुए न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Published On:
Sep, 11 2018 03:22 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।