अपने इस प्राइवेट पार्ट से छुटकारा पानी चाहती थी यह लड़की, खुले आम फेसबुक पर कर डाली यह डिमांड

Arijita Sen

Publish: Sep, 12 2018 02:28:11 PM (IST)

लड़कियां अपने फिगर को सुडौल बनाने के लिए तरह-तरह की महंगी दवाईयों के सेवन से लेकर आॅपरेशन तक कराती है वही जैस्मिन की समस्या इन सबसे परे है।

नई दिल्ली। किसी भी चीज की अधिकता को सही नहीं माना जाता है क्योंकि बाद में यही इंसान के लिए परेशानी का सबब बन जाती है। इसी वजह से कहा जाता है 'अति सर्वत्र वर्जयेत'। अब आप इस संदर्भ में स्कॉटलैंड में रहने वाली 20 साल की जैस्मिन व्लासी को ही देख लीजिए। जहां और लड़कियां अपने फिगर को सुडौल बनाने के लिए तरह-तरह की महंगी दवाईयों के सेवन से लेकर आॅपरेशन तक कराती है वही जैस्मिन की समस्या इन सबसे परे है।

 

जैसमिन व्लासी

दरअसल, जैस्मिन अपने बड़े ब्रेस्ट के चलते काफी परेशान है। जैस्मिन के ब्रेस्ट का शेप उसके लिए एक बड़ी चिंता का विषय बन चुका है। दिन-रात जैस्मिन बस इसी सोच में डुबी रहती है कि आखिर वह इसे कम कैसे करें। वह किसी भी कीमत पर इन्हें कम करा कर इस परेशानी से छुटकारा पाना चाहती है। इस समस्या से काफी लबें समय से जूझ रही जैस्मिन आखिरकार डॉक्टर के पास गई।

जैसमिन व्लासी

डॉक्टर्स ने जैस्मिन को बताया कि ब्रेस्ट रिडक्शन के जरिये इस तकलीफ को वह हमेशा के लिए दूर कर सकती है। हालांकि यह सबकुछ इतना आसान नहीं था क्योंकि इस सर्जरी के लिए पुरे 7000 पाउंड यानि कि इंडियन करेंसी में 6 लाख रुपए की जरुरत थी। जैस्मिन के पास इतने पैसे नहीं थे और इतनी बड़ी रकम को जुटा पाना कोई आसान काम भी नहीं था। ऐसे में जैस्मिन ने फेसबुक का सहारा लिया।

 

जैसमिन व्लासी

एक कंपनी में कस्टमर सर्विस एडवाइजर के पद पर कार्यरत जैस्मिन ने फेसबुक पर फंडिंग पेज बनाकर लोगों से मदद की मांग की।

जैस्मिन ने लोगों से अपनी समस्या के बारे में बताते हुए कहा कि, जब वह 13 साल की थी तभी से वह इस इस चीज के लिए काफी चिंतित थी। स्कूल से लेकर कॉलेज में लोग बेहद अजीब ढंग से उसे देखते थे। वह इस प्रॉब्लम से इस कदर परेशान हो चुकी थी कि लोगों के सामने आने में भी उसे हिचकिचाहट महसूस होती थी।

अन्त में उसने ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी के जरिए इससे निजात पाने का ठान लिया और पैसे जुटाने के लिए आखिरी रास्ते के तौर पर फेसबुक की मदद ली।

More Videos

Web Title "A girl created Facebook funding page for breast reduction operation"