vidisha district hospital : एक पलंग पर दो से तीन बच्चे एडमिट, माताओं को जागकर काटनी पड़ रही रात

By: Bhupendra Malviya

Updated On: 24 Aug 2019, 12:01:51 PM IST

  • अस्पताल के शिशु वार्ड में बढ़ रही बीमार बच्चों की संख्या।

विदिशा। जिला अस्पताल District Hospital के शिशु वार्ड children ward में भर्ती मरीजों patients admitted की संख्या बढ़कर दोगुनी हो गई है। इससे परिजनों की परेशानी बढ़ रही है। वहीं ओपीडी में भी बीमार बच्चों की संख्या पहले से अधिक हो गई है। अस्पताल के इस वार्ड में बच्चों के उपचार के लिए दो हॉल और कुल 25 पलंग उपलब्ध है। अभी तक भर्ती बच्चों की संख्या सामान्य थी लेकिन पिछले तीन दिनों में यह संख्या दोगुनी हो जाने से संसाधन कम पड़ रहे। एक पलंग पर दो-दो मरीजों का उपचार चल रहा है।

 

25 पलंग पर 53 बच्चे भर्ती रहे
शुक्रवार को 25 पलंग पर 53 बच्चे भर्ती रहे। इसमें बुखार, सर्दी जुकाम, पेटदर्द, खून की कमी के मरीज आ रहे हैं। चिकित्सकों के अनुसार बारिश में दूषित जल और दूषित खानपान के कारण बच्चों के बीमार होने की संभावना बनी रहती है। यह आ रही मुश्किल एक पलंग पर दो बच्चों के भर्ती रहने उनकी माताओं को भी पलंग पर रुकना पड़ता है।

 

महिलाओं को समझाना पड़ रहा
ऐसे में एक पलंग पर चार लोगों के रहने से बच्चे ठीक से आराम नहीं कर पा रहे और उनकी माताओं को भी रात जागकर काटना पड़ रही। अस्पताल परिसर स्थित चौकी के पुलिसकर्मियों का कहना है कि रात में एक पलंग पर अधिक बच्चों की स्थिति में महिलाओं के बीच विवाद की नौबत बन रही और सूचना पर वार्ड में पहुंचकर महिलाओं को समझाना पड़ रहा।


मौसम की प्रतिकूलता के कारण बीमार बच्चों की संख्या बढ़ी है। बच्चों को स्वच्छ जल एवं स्वच्छ भोजन देने का ध्यान परिजनों को रखना चाहिए।
डॉ. एमके जैन, शिशु रोग विशेषज्ञ, जिला अस्पताल

Updated On:
24 Aug 2019, 12:01:50 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।