संस्कृत विश्वविद्यालय में इस साल भी मिलेगा ऑनलाइन प्रवेश

  • 26 जुलाई से 16 अगस्त तक पूर्ण होगी प्रवेश प्रक्रिया, जानिए परीक्षा समिति की बैठक में क्या हुआ निर्णय
वाराणसी. सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में प्रवेश फार्म को लेकर उहापोह की स्थिति खत्म हो गयी हैं। कुलपति प्रो.यदुनाथ प्रसाद दुबे की अध्यक्षता में हुई प्रवेश समिति की बैठक में इस साल भी ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया कराने का निर्णय किया गया है।


बैठक में सदस्यों को बताया गया कि 26 जुलाई से 16 अगस्त तक प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण कर ली जायेगी। इसी अवधि मे प्रवेश फार्म जारी होगा और अभ्यर्थियों को ऑनलाइन प्रवेश फार्म जमा भी करना होगा। ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया में यूपी डेस्को से सहयोग लिया जायेगा। ऑनलाइन की सारी प्रक्रिया यूपी डेस्को के माध्यम से पूर्ण होगी। अभ्यर्थियों को ऑनलाइन प्रवेश फार्म भरने के लिए इलाहाबाद बैंक में 100 रुपये का चालान जमा करवाना होगा। 


इन विषयों के लिए निकलेगा ऑनलाइन प्रवेश फार्म
संस्कृत विश्वविद्यालय के शास्त्री व आचार्य के लिए ऑनलाइन प्रवेश फार्म भरा जायेगा। शास्त्री की अर्हता उत्तर मध्यमा या फिर इंटरमीडिएट संस्कृत रखी गयी है जबकि आचार्य की अर्हता शास्त्री उत्तीर्ण या फिर बीए संस्कृत उत्तीर्ण हैं।


प्रवेश के समय जमा करना होगा यह दस्तावेज
विश्वविद्यालय प्रशासान ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रवेश के समय अभ्यर्थियों को अंक पत्र, रैगिंग शपथ पत्र एवं टीसी जमा करना अनिवार्य है। इन दस्तावेजों के बिना अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं दिया जायेगा।


संबद्ध कालेज के छात्रों को दी गयी सुविधा
विश्वविद्यालय प्रशासन ने परिसर में प्रवेश लेने के लिए संबद्ध कालेजों के छात्रों को सुविधा दी है। वहां के छात्र व छात्राएं ऑनलाइन मिले अंक पत्र के आधार पर ही प्रवेश प्राप्त कर सकेंगे।


मेरिट के आधार पर होगा प्रवेश
सम्पूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय प्रशासन ने पहले ही निर्णय किया है कि छात्रों की प्रवेश परीक्षा नहीं करायी जायेगी। जिस विभाग में जितने आवेदन आते हैं उनकी मेरिट बनायी जायेगी और फिर अभ्यर्थियों को प्रवेश मिलेगा। विश्वविद्यालय में सीट से कम संख्या में अभ्यर्थी आवेदन करते हैं इसलिए प्रवेश परीक्षा कराना संभव नहीं है।