बनारस में थम नहीं रहा अपराध, स्कॉपियो से उड़ाये लाखों रुपये, पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप

By: Devesh Singh

Updated On:
11 Sep 2019, 06:34:37 PM IST

  • मौके पर पहुंचे पुलिस ने जांच शुरू की, सीसीटीवी फुटेज में दर्ज हुई घटना

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में सीएम योगी आदित्यनाथ की पुलिस अपराध रोकने में नाकाम साबित हो रही है। बदमाश लगतार घटना को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं। कैंट थाना क्षेत्र में दिव्यांग पान विक्रता दिलीप पटेल के हत्या आरोपी एक लाख के इनामी बदमाश झुन्ना पंडित को पुलिस अभी पकड़ नहीं पायी है कि बुधवार को बदमाशों ने उच्चकागिरी कर स्कॉर्पियो से सात लाख रुपये उड़ा दिये। जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने सीसीटीवी फुटेज को लेकर जांच शुरू कर दी है।
यह भी पढ़े:-रेप पीडि़ता ने अतुल राय पर लगाया आरोप, वायरल वीडियो में कहा कि उन्नाव पीडि़ता जैसा हाल करने की मिल रही धमकी

रामनाथ गुप्ता किसी काम से पांडेयपुर चौराहे से आजमगढ़ की तरफ जा रहे थे। लालपुर में स्कॉर्पियो रोक कर केक खरीदने लगे। स्कॉपियो में कुल तीन लोग सवार थे। रामनाथ गुप्ता अभी केक ले रहे थे कि एक युवक पास आया और गाड़ी के पास कई चक्कर लगाने के बाद रुक गया। युवक ने धीरे से वाहन के पास मोबिल को गिरा दिया। इसके बाद स्कॉर्पियो सवार से बोला की आपके वाहन से मोबिल गिर रहा है। इसके बाद रामनाथ गुप्ता व अन्य दो लोग गिरे हुए मोबिल को देख कर समझा की यह उनके वाहन से ही गिरा है। तीनों लोग स्कॉर्पियो से उतरे और वाहन का बोनट खेाल कर उसे चेक करने लगे। इसी बीच एक लड़का आता है और वाहन के पिछले सीट में रख बैग लेकर भाग जाता है। तीन लोग कुछ देर तक इंजन की जांच करने के बाद वापस वाहन में आये ओर चलने लगे। इसी बीच लोगों का ध्यान पीछे रखे बैग पर गया तो वह गायब मिला। इसके बाद पीडि़तों ने तुरंत ही १०० नम्बर को डायल किया। बैग में सात लाख रुपये वह अन्य कागजात होने की बात सामने आ रही है। मौके पर एसएसपी आनंद कुलकर्णी, एसपी सिटी दिनेश सिंह, कैंट सीओ डा.अनिल कुमार भी पहुंचे और मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस को घटना का सीसीटीवी फुटेज मिल चुका है इससे जल्द ही बदमाशों को पकड़े जाने की बात कही जा रही है।
यह भी पढ़े:-सिपाहियों के शराब तस्करी में पकड़े जाने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप, निलंबित पुलिसकर्मी बने थे बिचौलिये

Updated On:
11 Sep 2019, 06:34:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।