मायावती ने भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर के बनारस रोड शो के बाद ट्वीट कर किया ये ऐलान

By: Mohd Rafatuddin Faridi

Updated On: Mar, 31 2019 02:58 PM IST

  • मायावती के ऑफिशियल टि्वटर हैंडल से एक के बाद एक लगातार हुए दो ट्वीट।

    पहले हिंदी और उसके बाद फिर अंग्रेजी में हुए ट्वीट।

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने का ऐलान सियासी गलियारों में हलचल मचाने वाले भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने शनिवार को बनारस में रोड शो कर अपनी ताकत दिखाकर सियासत और गरमा दी है। चन्द्रशेखर ने बनारस में संविधान को सीने से लगाकर कई किलोमीटर लम्बा रोड शो निकाला। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर जमकर हमले भी किये और कहा कि अब वह हिसाब लेने आ गए हैं। उनके रोड शो के दूसरे दिन बसपा सुप्रीमो मायावती ने इसे लेकर लगातार दो ट्वीट किये। पहले हिंदी और उसके बाद अंग्रेजी में मायावती के ऑफिशियल टि्वटर हैंडल से किये गए ट्वीट से सियासत और गरमा गयी है।

इसे भी पढ़ें

भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर की मोदी के गढ़ में ललकार, चौकीदार होशियार, हिसाब लेने आ गया है हिसाबदार

भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर ने बनारस में उसी अंबेडकर चौराहे से अपना रोड शो शुरू किया, जहां बसपा के कार्यक्रम होते हैं। नौ नदेसर, चौकाघाट, मलदहिया, सिगरा होते हुए लंका के बीएचयू सिंहद्वार तक नौ किलोमीटर लम्बा रोड शो कर चन्द्रशेखर ने अपनी ताकत दिखायी। यहां उनके साथ स्थानीय लोग कम और भीम आर्मी के लोग ज्यादा नजर आए। चन्द्रशेखर ने बनारस में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चैलेंज करते हुए कहा कि चौकीदार अब होशियार हो जाओ। अब हिसाब लेने हिसाबदार आ गया है।

इसे भी पढ़ें

भीम आर्मी चीफ ने रोड शो के दौरान बनारस में की रिक्शे की सवारी, रिक्शे वाले को मिले इतने रुपये

चन्द्रशेखर के रोड शो के दूसरे ही दिन मायावती ने इसको लेकर धमाकेदार ट्वीट कर बीजेपी और चन्द्रशेखर दोनों पर हमले किये। मायावती ने रविवार की सुबह 10.32 बजे पहले ट्वीट में आरोप लगाया कि बीजेपी दलितों को बांटने के लिये भीम आर्मी का इस्तेमाल कर रही है। भाजपा को फायदा पहुंचाने के लिये ही चन्द्रशेखर को वाराणसी से लोकसभा चुनाव बीजेपी लड़वा रही है। उन्होंने भीम आर्मी के गठन को बीजेपी का षड़्यंत्र करार देते हुए दावा किया है कि इसकी आड़ में वह अपनी दलित विरोधी मानसिकता वाली घिनौनी राजनीति कर रही है।

 

 

पहले ट्वीट के जस्ट बाद दूसरा ट्वीट भी आया, जिसमें दावा किया गया कि भाजपा ने चन्द्रशेार को गुप्तचरी के लिये बसपा में भेजने की कोशिश की, लेकिन उनका षड़्यंत्र विफल रहा। उन्होंने यह कहते हुए अपना वोट बर्बाद न करने की अपील किया कि, अहंकारी, निरंकुश व घोर जातिवारी व साम्प्रदायिक बीजेपी को सतता से हटाने के लिये आपका एक-एक वोट बहुत कीमती है।

 

 

बता दें कि इस बार भी वाराणसी लोकसभा सीट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही भाजपा के उम्मीदवार होंगे। समाजवादी पार्टी और बसपा के गठबंधन में यह सीट सपा के खाते में आयी है, लेकिन अब तक सपा ने यहां कोई प्रत्याशी तय नहीं किया है। दूसरी ओर कांग्रेस भी प्रधानमंत्री मोदी की सीट पर एक मजबूत प्रत्याशी उतारने की फिराक में है। प्रियंका गांधी चन्द्रशेखर से पहले ही अस्पताल में जाकर मिल भी चुकी हें। इसके अलावा अमेठी के अपने कार्यक्रम में प्रियंका गांधी ने मंच से ही जनता से पूछा था कि क्या वो बनारस से प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ जाएं। सिर्फ यही नहीं लम्बे समय से अपनी मांगों को लेकर आंदोलनरत तमिलनाडु के 101 किसानों ने भी प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। खबर ये भी है कि खराब खाने की शिकायत करने वाले बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव ने भी पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

 

 

इन सबके चलते पीएम मोदी की सीट पर ईवीएम के बजाय बैलट पेपर से मतदान होने की संभावना जतायी जा रही है। कुल मिलाकर 2014 की तरह वाराणसी लोकसभा सीट के चुनाव पर इस बार भी पूरे देश की नजर रहने वाली है।

Published On:
Mar, 31 2019 02:58 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।