सीएम योगी ने कहा दो अक्टूबर को काशी मेंं नहीं दिखनी चाहिए गंदगी

CM Yogi Adityanath

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक करके विकास कार्यों का हाला जाना। सीएम ने 15 सितम्बर से दो अक्टूबर तक स्वच्छता पखवारा मनाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि दो अक्टूबर को शहर में कूड़ा नहीं दिखना चाहिए। पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है इसलिए मानक उपयोग पर रोक लगाया जाये।
यह भी पढ़े:-शिवपाल ने जारी की प्रवक्ताओं की लिस्ट, सपा की इस दिग्गज महिला नेता का भी नाम शामिल

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शाही नाला की सफाई तेजी से करायी जाये। आवश्यकता पडऩे पर मैन पॉवर को बढ़ा दिया जाये। किसी भी हाल में 15 दिसम्बर तक शाही नाला साफ हो जाना चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि अब बारिश खत्म होने वाली है इसलिए शहर की सड़कों को ठीक कराये। विजयादशमी, दीपावली, देव दीपावाली आदि पर्व आने वाले हैं। इसके बाद जनवरी में प्रवासी सम्मेलन होना है। इन पर्व को ध्यान रखते हुए सीवर, पानी, सड़क, बिजली, सफाई आदि व्यवस्था पहले ही ठीक हो जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि काशी में देश व दुनिया से पर्यटक आते हैं ऐसे में शहर में गंदगी नहीं दिखनी चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने गंगा को बढ़े हुए जलस्तर की जानकारी ली। साथ ही कहा कि बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचायी जाये। पानी जब उतरेगा तो दवाओं को छिड़काव भी कराये। शहर की यातायात व्यवस्था पर कहा कि ट्रैफिक को ठीक रखे। क्राइम कंट्रोल के लिए पेट्रोलिंग बढ़ायी जाये। शहर के अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों के शौचालय की भी नियमित सफाई होनी चाहिए। सीएम योगी ने बीएचयू में छात्रों के बवाल की भी जानकारी ली और आवश्यक कार्रवाई करने को कहा। बैठक में बीजेपी विधायकों के साथ अपर मुख्य सचिव सूचना एंव पर्यटन अवनीश कुमार अवस्थी, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, डीएम सुरेन्द्र सिंह, आईजी रेंज विजय सिंह मीणा आदि अधिकारी उपस्थित थे।
यह भी पढ़े:-BHU में छात्रों व पुलिस के बीच गुरिल्ला युद्ध, पथराव, हवाई फायरिंग, छोड़ गये आंसू गैस के गोले

Web Title "CM Yogi Adityanath said on October 2 should not be seen dirt in Kashi"