वृद्धावस्था पेंशन के मामले में चौथे स्थान पर उन्नाव, जाने कैसे मिलती है वृद्धा पेंशन

By: Mahendra Pratap Singh

Updated On: Sep, 12 2018 03:43 PM IST

  • प्रदेश के 75 जिलों में वृद्धावस्था पेंशन के मामले में उन्नाव का चौथा स्थान है

उन्नाव. प्रदेश के 75 जिलों में वृद्धावस्था पेंशन के मामले में उन्नाव का चौथा स्थान है। पहले स्थान पर इलाहाबाद, जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर हरदोई व कुशीनगर है। गाजियाबाद में सबसे कम पेंशनर नीचे से दूसरा स्थान हापुड़ का है। जिन्हें तिमाही बारह सौ से पंद्रह सौ की रकम दी जाती है। यह पैसा सीधे उनके खाते में जाता है।

समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि बैंक अकाउंट से लेनदेन ना होने के कारण बैंक प्रबंधन द्वारा बंद कर दिया जाता है, जिससे लाभार्थी को पेंशन की राशि नहीं मिल पाती है। वृद्धावस्था पेंशन पाने वालों को लगता है कि विकलांग ऑफिस से उन्हें पेंशन नहीं दी जा रही जबकि ऐसा नहीं है। पेंशनर को अपना बैंक अकाउंट अपडेट रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा है कि प्रदेश में कोई भी पात्र वृद्ध बिना पेंशन के न रह जाए। साठ साल और गरीबी रेखा के नीचे रहने वाला व्यक्ति वृद्धा पेंशन का पात्र है और आधार कार्ड, पासबुक जैसे कागजातों के साथ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाकर पेंशन प्राप्त कर सकता है।

शासन की मंशा सभी वृद्धों को मिले पेंशन

समाज कल्याण अधिकारी अलख निरंजन मिश्र ने बताया कि शासन की मंशा है कि कोई भी पात्र वृद्धि पेंशन से वंचित न रह जाए। इसके लिए सर्वे भी कराया जा चुका है। पात्रों को चिन्हित करके जल्द ही उन्हें भी वृद्धों को पेंशन की सूची में शामिल कर लिया जाएगा। मुख्य सचिव के निर्देश पर जनपद के 1044 ग्राम सभा व 253 वार्डों का त्वरित सर्वे कराया गया था। जिससे यह जानकारी मिली कि ग्रामीण क्षेत्रों में 22000 व शहरी क्षेत्रों में 3344 पात्र वृद्ध हैं। जिन्हें शासन द्वारा मिलने वाली पेंशन सुविधा नहीं मिल रही है। जिलाधिकारी ने उप जिला अधिकारी को निर्देशित किया है कि सभी का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराए, जिससे कि सभी वृद्धों को शासन की मंशा के अनुरूप लाभ मिल सके और वृद्धा पेंशन की मुख्यधारा में उन्हें जोड़ा जा सके।

वृद्धावस्था पेंशन के आंकड़े

आगरा 35392

अलीगढ़ 41538

इलाहाबाद 124836

अंबेडकर नगर 71612

अमेठी 47841

अमरोहा 22423

औरैया 35241

आजमगढ़ 43664

बागपत 16773

बहराइच 65814

बलिया 63528

बलरामपुर 31191

बांदा 44969

बाराबंकी 76041

बरेली 60690

बस्ती 63968

भदोही 36100,

बिजनौर 32102,

बदायूं 52322

बुलंदशहर 26514

चंदौली 62551

चित्रकूट 29901

देवरिया 56198

एटा 26441

इटावा 48204

फैजाबाद 53868

फर्रुखाबाद 32330

फतेहपुर 38682

फिरोजाबाद 22651

गौतम बुद्ध नगर 16128

गाजियाबाद 7931

गाजीपुर 56567

गोंडा 77086

गोरखपुर 66289

हमीरपुर 33037

हापुर 8170

हरदोई 116269

हाथरस 18833

जालौन 49952

जौनपुर 84089

झांसी 56257

कन्नौज 44158

कानपुर देहात 50721

कानपुर नगर 68176

कासगंज 10184

कौशांबी 49471

खीरी 70043

कुशीनगर 100645

ललितपुर 27971

लखनऊ 77218

महाराजगंज 51469

महोबा 24430

मैनपुरी 77114

मथुरा 55357

मऊ 45392

मेरठ 24150

मिर्जापुर 77891

मुरादाबाद 30479

मुजफ्फरनगर 18631

पीलीभीत 34905

प्रतापगढ़ 73967

रायबरेली 77909

रामपुर 43713

सहारनपुर 68044

संभल 15962

संत कबीर नगर 61619

शाहजहांपुर 81131

शामली 12547

श्रावस्ती 13642

सिद्धार्थ नगर 61907

सीतापुर 55663

सोनभद्र 45394

सुल्तानपुर 56277

उन्नाव 92733

वाराणसी 58355 का आंकड़ा प्रदेश में स्थित है।

ऐसे करें आवेदन

वृद्धापेंशन योजना के लिए आवेदन करने के लिए sspy-up.gov.in पर लॉगइन करें। इसके बाद वृद्धावस्था पेंशन योजना पर क्लिक करें, जिसके बाद नई विंडो खुलेगी। इसके बाद ऑनलाइन आवेदन पर क्लिक कर न्यू एंट्री फॉर्म पर क्लिक करना होगा। इस फॉर्म को भर कर नीचे दिए गए सेव ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

वृद्धावस्था पेंशन योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

वृद्धावस्था पेंशन योजना के लिए अप्लाई करने वाले व्यक्ति को कुछ दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। इन दस्तावेजों के साथ आधार नंबर भी देना होगा। इन दस्तावेजों के साथ करना होगा अप्लाई।

आवेदनकर्ता वृद्धा अवस्था का होना चाहिए यानी कि उसकी उम्र 60 से ज्यादा होनी चाहिए।
आवेदनकर्ता के पास आधार कार्ड होना चाहिए।
आवेदनकर्ता यूपी का स्थाई निवासी होना चाहिए।
आवेदनकर्ता का खाता किसी बैंक में होना चाहिए।

Published On:
Sep, 12 2018 03:42 PM IST