निरस्त हो सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा: अजाक्स

By: ayazuddin siddiqui

Updated On:
23 Aug 2019, 09:30:00 AM IST

  • अतिथि विद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा ने किया समर्थन

उमरिया. मध्यप्रदेश में नित नए विवादों को जन्म देने वाली सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा ने अब एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। जिसका विरोध अजाक्स संगठन ने आज कलेक्टर उमरिया को राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में अजाक्स के जिला अध्यक्ष बाला सिंह टेकाम ने कहा है कि सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा में प्रदेश के बाहरी उम्मीदवार फर्जी प्रमाण पत्रों के माध्यम से नौकरी पाना चाहते हैं। प्रमाण पत्रों की जांच में यह तथ्य भी सामने आए है कि जिनकी 2 से अधिक जीवित संताने हैं वे भी परीक्षा में बैठे हैं। जबकि वे पहले ही अपात्र थे। परीक्षा में व्याप्त विसंगतियों और आरक्षण रोस्टर एवं विकलांग आरक्षण को विधिसम्मत तरीके से लागू नही किये जाने के कारण ही उच्च न्यायालय जबलपुर ने चयन सूची को पुन: संशोधित करने का आदेश पारित किया था। अतिथि विद्वान नियमितीकरण मोर्चा के डॉ आशीष पांडेय ने कहा कि मोर्चा अजाक्स की मांगों का पूर्ण समर्थन करता है एवं सरकार से मांग करता है कि सहायक प्राध्यापक भरतीं परीक्षा की किसी निष्पक्ष एजेंसी से जांच करवाकर अविलंब परीक्षा निरस्त की जाए। ज्ञापन देने के दौरान अजाक्स के सदस्य, पदाधिकारी, उमरिया जिले के समस्त महाविद्यालयों के अतिथि विद्वान उपस्थित थे।

Updated On:
23 Aug 2019, 09:30:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।