पहले चरण में मकानों की गणना और बनेगी सूची

उमरिया. जनगणना 2021 के अंतर्गत प्रथम चरण के दौरान मकान सूचीकरण एवं मकानो की गणना तथा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर का अद्यतन किया जाना है। इसलिए प्रशिक्षण प्राप्त कर रहें चार्ज अधिकारी / अतिरिक्त चार्ज अधिकारी कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान करें। उक्त बातें कलेक्टर स्वरोचिश सोमवंशी ने जिला स्तरीय जनगणना के दो दिवसीय प्रशिक्षण के शुभारंभ के दौरान प्रशिक्षणार्थीयों को कलेक्टर सभागार में संबोधित करते हुए कही। प्रशिक्षण में जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी बीपी खेलवाल, समस्त मुख्य नगर पालिका अधिकारी सहित चार्ज अधिकारी एवं अतिरिक्त चार्ज अधिकारी, मास्टर ट्रेनर उपस्थित थे। कलेक्टर ने प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए कहा कि जनगणना का कार्य महत्वपूर्ण है। इस कार्य के माध्यम से वर्ष 2021 से लेकर आगामी जनगणना वर्ष 2031 तक का डाटाबेस विभिन्न प्रकार के महत्वपूर्ण कार्यो के उपयोग में किया जाएगा। साथ ही परिसीमन और आरक्षण में भी काम आता है। इस बार जनगणना का स्वरूप विगत जनगणना 2011 से अलग होगा। जिसमें नई टेक्नोलॉजी के माध्यम से की जावेगी। जनगणना के प्रथम चरण के दौरान 01 मई से 14 जून तक मकान सूचीकरण का कार्य कराया जावेगा। साथ ही राष्ट्रीय जनगणना रजिस्टर का अद्यतन भी किया जावेगा। उन्होने कहा कि देश का विकास भी जनगणना के आंकडो के आधार पर ही संभव है। जनगणना कार्य 2021 के सिस्टम में मोबाइल एप का उपयोग किया जावेगा। साथ ही जनगणना कार्य के अन्य सिस्टम का भी उपयोग करने की सुविधा दी गई है। जनगणना कार्यालय भोपाल से आये विषय विशेषज्ञों द्वारा जनगणना एवं राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर का परिचय एवं कार्य प्रणाली का विस्तार से प्रशिक्षण चार्ज अधिकारी एवं अतिरिक्त चार्ज अधिकारियों को दिया। साथ ही जिला स्तरीय प्रशिक्षक संजीव शर्मा ने भी जनगणना पर प्रशिक्षणार्थियो को जानकारी दी। इस अवसर पर सभी प्रशिक्षणार्थी उपस्थित रहे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।