शिक्षक के तबादले,अफसरों को नहीं पता

By: Shailesh Vyas

Published On:
Aug, 12 2019 10:30 PM IST

  • स्थानांतरण सूची को शिक्षा पोर्टल पर अपलोड नहीं, शिक्षा मित्र एेप के जरिए सूचना दी जा रहीं है। किसी को नहीं पता कि ऑफलाइन वाले का तबादला हुआ है या ऑनलाइन आवेदन करने वाले का हुआ। उज्जैन जिले से करीब १७०० शिक्षकों ने आवेदन किया था।

उज्जैन. स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षकों के स्थानांतरण संबंधी प्रक्रिया चल रही है। इसमें लगभग 35 हजार शिक्षकों के तबादले संबंधी आदेश जारी कर दिए गए हैं। खास बात यह कि किसी को नहीं पता कि ऑफलाइन वाले का तबादला हुआ है या ऑनलाइन आवेदन करने वाले का हुआ। आवेदन की मैरिट में पहले वाले को मौका मिला है या बाद वाले का, किसका तबादला हुआ है और किसका नहीं, यह पता नहीं चल सका है। स्थानांतरण सूची को शिक्षा पोर्टल पर अपलोड नहीं की जा रही हैं। एेसी स्थित में शिक्षा विभाग के अफसरों को ही जानकारी है कि किसी का तबादला हुआ है। स्कूल शिक्षा विभाग ने स्थानांतरण प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए इस बार शिक्षकों से ऑनलाइन आवेदन कराए थे। इसमें प्राथमिकता के आधार पर स्थानांतरण होना था। इसमें प्रदेश के करीब 70 हजार और उज्जैन जिले से करीब १७०० शिक्षकों ने आवेदन किया था। विभाग ने अभी तक लगभग 35 हजार शिक्षकों के स्थानांतरण कर दिए। इस संबंध में आदेश संबंधित शिक्षकों को शिक्षा मित्र एेप के जरिए भेज दिए गए हैं। पहली बार इतनी बड़ी संख्या में आदेश जारी किए गए हैं।
जिन शिक्षकों के स्थानांतरण सिर्फ उन्हीं को पता
लोक शिक्षण संचालनालय शिक्षकों की तबादला सूची शिक्षा पोर्टल पर अपलोड न कर, संबंधित शिक्षकों के आदेश शिक्षा मित्र एेप के जरिए भेजी जा रही हैं। इससे जिन शिक्षकों के स्थानांतरण किए गए, सिर्फ उन्हीं को पता चल रहा है। अभी तक प्रदेश के 16 हजार शिक्षकों के आदेश एेप के जरिए मिले हैं। लोक शिक्षण संचालनालय शनिवार को भी शिक्षकों के स्थानांतरण के आदेश जारी किए हैं, लेकिन शिक्षकों को आदेश नहीं मिलने से वे परेशान हो रहे हैं। वहीं विभाग का कहना है कि सभी के आदेश एेप के माध्यम से भेजे जाएंगे, लेकिन सर्वर डाउन होने के कारण आदेश अपलोड होने में समय लग रहा है। प्रक्रिया पर सवाल शिक्षकों की तबादला प्रक्रिया में सवाल खड़ा हो गया है। बताया जाता है कि जिलों के प्रभारी मंत्री द्वारा अनुमोदन के आधार पर भी शिक्षकों के प्रशासनिक तबादले किए जाने थे, परंतु अचानक से स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रशासनिक तबादले भी भोपाल से शुरू कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि विभागीय अधिकारियों ने प्रभारी मंत्रियों के अनुमोदन को दरकिनार कर शिक्षकों के तबादले आदेश उनकी आईडी में भेजना शुरू कर दिया है। इन आदेश के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप है। प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से जिले के जिले में तबादले शिक्षकों किए जाने का प्रावधान तबादला नीति में रखा गया था जिसके लिए प्रत्येक जिले में शिक्षकों की सूची तैयार की गई और प्रभारी मंत्रियों से अनुमोदित कराई गई। यह प्रक्रिया पहले 6 अगस्त से शुरू होनी थी, परंतु पोर्टल नहीं खुलने के कारण 8 अगस्त फिर 10 अगस्त कर दी गई। इसके बाद भी शिक्षा विभाग का पोर्टल नहीं खुला तो भोपाल से ऑनलाइन तबादले के आदेश शिक्षकों तक पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया गया।
इनका कहना
शिक्षकों के ऑनलाइन तबादला आदेश शिक्षकों तक पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया गया। शिक्षक शिक्षा मित्र एप के पर लॉगिग कर आदेश संबंध में पता कर सकते हैं। उज्जैन में कितने शिक्षकों का तबादला हुआ है अभी यह स्पष्ट नहीं है।
-अभय तोमर,सहायक संचालक शिक्षा उज्जैन.

Published On:
Aug, 12 2019 10:30 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।