पदयात्रा है स्वास्थ्य व पर्यावरण की सुरक्षा का उपाय

By: Sushil Kumar Singh Chauhan

Published On:
Jul, 11 2019 10:48 PM IST

  • udaipur jain samajरैली कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कमलेश मुनि ने व्यक्त किए विचार

उदयपुर. राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश ने कहा कि स्वास्थ्य, पर्यावरण और प्रदूषण की रक्षा करनी है तो पदयात्रा के अलावा सरकार, विज्ञान और डॉक्टर के पास कोई विकल्प नहीं है। अंबा माता महावीर स्वाध्याय और साधना समिति की सद्भाव पदयात्रा के दौरान धर्मप्रेमियों को संबोधित करते हुए कमलेश मुनि ने कहा कि पदयात्रा के माध्यम से शरीर का योगा होता है। पसीना आने से सैकड़ों रोगों की मुिक्त होती है। स्वच्छ व ताजा हवा से नई उर्जा का संचार होता है। शुगर रोगी के लिए पदयात्रा दवाई है। पदयात्रा से प्रदूषण पर नियंत्रण आता है। पेट्रोल के धुएं से जो जहरीला पन भूमंडल में फैल रहा है। श्वास के माध्यम में कैंसर रोग खुले में निमंत्रण दे रहा है। पुलिस अधिकारी व अन्य लोगों ने पदयात्रा में हिस्सा लिया। अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच नई दिल्ली की ओर से इसका आयोजन तय हुआ था। डॉ. दिलखुश सेठ, कौशल मुनि व घनश्याम मुनि ने विचार व्यक्त किए। शुक्रवार व शनिवार सुबह 9 बजे भूपालपुरा ग्राउंड के समीप आराधना भवन में प्रवचन होंगे।

मुनि भाग्य सुंदर विजय व मुनि दर्शन का चातुर्मास प्रवेश कल
जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक जिनालय समिति, हिरण मगरी सेक्टर-4, उदयपुर में मुनि भाग्य सुन्दर विजय व दर्शन सुन्दर विजय महाराज का चातुर्मास होगा। इससे पहले शनिवार सुबह 8.30 से 9.30 बजे के बीच तुलसी निकेतन स्कूल, कुंभा नगर हिरण मगरी सेक्टर4 के शांतिनाथ मंदिर में दोनों ही मुनियों का नगर प्रवेश होगा। साथ ही मांगलिक प्रवचन होगा। कार्यक्रम में विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, महापौर चंद्रसिंह कोठारी, संगठन अध्यक्ष डॉ. शैलेंद्र हिरण, किरणमल सावनसूखा, राज लोढ़ा, भूपालसिंह दलाल, मनोहरसिंह नलवाया व अन्य मौजूद रहेंगे। यह जानकारी समिति अध्यक्ष सुशील कुमार बांठिया ने दी।

Published On:
Jul, 11 2019 10:48 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।