राजधानी को छोड़ बाहरी रोगियों की सरकार ‘मित्र’ नहीं

By: bhuvanesh pandya

Updated On: 10 Sep 2019, 10:43:22 PM IST

  • - केवल जयपुर के ही निजी चिकित्सालयों में लगाए रोगी मित्र

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर. सरकार की नजर में गरीब मरीज केवल राजधानी में ही हैं, इसलिए सरकार ने रोगी मित्र केवल राजधानी के निजी चिकित्सालयों में ही लगाए हैं, इससे बाहर किसी भी जिले में रोगी मित्र नहीं लगाए गए हैं। ऐसे में यहां के मरीज जो वाकई बीपीएल वर्ग में हैं, उनकी निजी चिकित्सालयों में भले ही जेब ढीली होती हो तो हो जाए।

------

ये है रोगी मित्र लगाने का कारण

रियायती दरों पर जिन निजी चिकित्सालयों को भूमि आवंटित की गई है, ऐसे हॉस्पिटलों को सरकार इन रोगी मित्रों को लगाकर पाबंद कर रही है कि उनके चिकित्सलयों में जितने भी बीपीएल वर्ग के मरीज उपचार के लिए पहुंचे उन्हें नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सके। लेकिन सरकार ने ये रोगी मित्र केवल जयपुर के ही हॉस्पिटलों में लगाए हैं, अन्य किसी जिले में नहीं। इसमें सरकार ये सख्ती भी बरत रही है कि यदि किसी बीपीएल वर्ग के व्यक्ति ने शिकायत दर्ज करवाई तो हॉस्पिटलों को इसके लिए तत्काल नोटिस जारी किए गए हैं। रोगी मित्र काउन्टर पर ही उपलब्ध रहेगा। बीपीएल कार्ड बताने या स्वयं को पैसा देने में असमर्थ बताने पर उसकी मदद करेगा। ये रोगी मित्र ज्यादातर उसी चिकित्सालय के स्टाफ से लगाए गए हैं।

-----

केवल जयपुर के 25 निजी चिकित्‍सालयों में

बीपीएल यानी निम्‍न आय वर्ग के मरीजों को नि:शुल्‍क चिकित्‍सा सुविधा उपलब्‍ध करवाने में सहयोग के लिए उन्‍हीं चिकित्‍सालयों के कार्मिकों को रोगी मित्र के रूप में जयपुर के 25 निजी चिकित्सालयों में नियुक्‍त किया गया था। पांच निजी चिकित्‍सालयों में लगाए गए रोगी मित्रों के माध्‍यम से बीपीएल मरीजों का नि:शुल्‍क उपचार नहीं होने पर प्रबन्धन को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

----

24 हजार 443 मरीजों का उपचार

वर्ष 2015 से लेकर 2019 तक केवल जयपुर में बीपीएल वर्ग के 24 हजार 443 मरीजों का नि:शुल्क उपचार किया गया।

----

ये है असली परेशानी: उदयपुर के अधिकांश निजी चिकित्सालयों में यदि बीपीएल वर्ग के मरीज पहुंचते है, तो वे ये समझ नहीं पाते हैं कि उन्हें करना क्या है, किससे मिलना है, ताकि उन्हें राहत मिल सके, जबकि दूसरी ओर कई हॉस्पिटलों ने

हमारे यहां तो आदेश ही नहीं

अपने यहां रोगी मित्र लगाने के लिए कोई आदेश नहीं है, यदि सरकार आदेश देगी तो उसके अनुरूप बीपीएल वर्ग के लिए काम करेंगे।

डॉ दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ उदयपुर

Updated On:
10 Sep 2019, 10:43:21 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।