कृष्णा तंवर/उदयपुर . सावन के अंतिम सोमवार को रानी रोड स्थित महाकालेश्वर मंदिर में विराजित स्वयंभू महादेव भक्तों को दर्शन देने शाही सवारी के रूप में नगर भ्रमण पर निकले। इसमें महाकाल के साथ मां काली, जगदम्बा, ब्रह्मा, विष्णु, हनुमान के साथ पूरे शिव परिवार की झांकियां शामिल हुुुुई। शाही सवारी की अगवानी हाथ में डमरू लिए नृत्य करते गणपति दिखे।शाही सवारी अभिजित मुहूर्त में मंदिर से शुरू होकर निर्माणधीन गुफाा से होते हुए पूर्वी द्वार से फतह सागर के रास्ते से होते हुए काला किवाड, स्वरूप सागर,शिक्षा भवन चौराहा, चेटक सर्कल, हाथीपोल,मोती चोहट्टा,जगदीश चौक, गणगौर घाट, चांदपोल पुलिया, जाडा गणेशजी अम्बापोल पुलिया, अम्बामाता, राडाजी चौराहे होते हुए पुन: मंदिर परिसर में पहुंची,जहां पर महाकाल की महाआरती हुुुुुई।मार्ग में जगह -जगह पर पुष्प वर्षा से सवारी का स्वागत किया गया। मार्ग में स्थित प्रमुख मंदिरों पर महाकाल की पूजा-आरती हुुुुई।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।