10 दिवसीय सिद्धचक्र महामंडल विधान जारी

By: Sushil Kumar Singh Chauhan

Updated On:
11 Jul 2019, 10:55:33 PM IST

  • - 17 तक चलेंगे धार्मिक आयोजन

उदयपुर. आचार्य वैराग्यनंदी व आचार्य सुन्दरसागर महाराज के सान्निध्य में हिरणगरी सेक्टर 11 स्थित आदिनाथ भवन में 10 दिवसीय सिद्धचक्र महामण्डल विधान जारी है। विधान 17 जुलाई तक चलेंगे। विधान के पुण्यार्जक भूरीलाल राजेश देवड़ा है। आदिनाथ दिगम्बर जैन चेरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष अशोक शाह ने बताया कि विधान से पूर्व शोभायात्रा निकाली गई। इसमें हाथी, घोड़े, बैण्ड बाजे पालकी सहित भगवान श्रीजी को नगर भ्रमण कराते हुए आदिनाथ भवन पहुंचाया गया। वहां आचार्य द्वय के सान्निध्य में पंडित ऋषभ शास्त्री की ओर से शांति विधान कराए गए। विधान में 125 जोड़े शामिल हैं।
इधर, धर्मसभा को संबोधित करते हुए आचार्य सुन्दरसागर ने कहा कि गुरु ज्ञान देता है क्योंकि वह ईश्वर के दिखाए मार्ग पर चलना सिखाता है। खाना चाहे कितना ही स्वादिष्ट बना लो, लेकिन नमक नहीं है तो खाना बेकार है। ठीक इसी प्रकार आप कितने ही अच्छे हो, लेकिन जीवन में धर्म का कोई स्थान नहीं है तो जीवन दिखावा मात्र है। आचार्य वैराग्यनंदी महाराज ने कहा कि मन के भावों को शुद्ध रखो। भाव अच्छे होंगे तो मन भी सुन्दर होगा। भीतर समाहित गंदगी को दूर करो। प्रचार-प्रसार मंत्री महावीर भाणावत ने बताया कि विधान में प्रतिदिन सैकड़ों लोगों की मौजूदगी रह रही है। संचालन ट्रस्ट महामंत्री मदन देवड़ा ने किया।

अमरनाथ के लिए जत्था रवाना
जनपद मित्र मंडल का 11 सदस्यीय दल डॉ. हेमशंकर दाधीच के नेतृत्व में अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना हुआ। डॉ. घनश्यामसिंह भींडर ने बताया कि दल सदस्य अजमेर के बाद सीधे जम्मू को जाएंगे। अमरनाथ के बाद सभी दर्शनार्थी कश्मीर और वैष्णों देवी धाम जाएंगे।

Updated On:
11 Jul 2019, 10:55:33 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।