बिना मापदण्डों के लगे स्पीड ब्रेकर लगा सकते है जिन्दगी के ब्रेक

By: Vijay Kumar Jain

Published On:
Jul, 15 2019 05:20 PM IST

  • Speed breaker नगरपालिका की ओर से शहर में बिना मापदण्डों के स्पीड ब्रेकर लगा दिए। इन ब्रेकरों से वाहनों की स्पीड तो कम हो गई, लेकिन वाहन चालकों कई तरह के दर्द सामना करना पड़ रहा है।

मालपुरा. शहर में तेज गति से चलने वालें वाहनों की रफ्तार कम करने व दुर्घटनाओं को रोकने के लिए स्पीड ब्रेकर बनाना सही है, लेकिन जब वहीं ब्रेकर बिना मापदण्डों के पास-पास में ही बना दिए जाए तो वाहन चालकों के लिए सुविधा के स्थान पर दुविधा बनते नजर आ रहे है।

 


नगरपालिका की ओर से शहर में व्यास सर्किल से सुभाष सर्कल, सुभाष सर्कल से नवीन मण्डी व गांधी पार्क तक, गांधी पार्क से माणक चौक बाजार तक, माणक चौक से मोहल्ला सादात टोडा रोड तक, आजाद चौक से टेलीफोन कार्यालय, विनय टाकीज से ट्रक स्टैण्ड क्षेत्र में बिना मापदण्डों के स्पीड ब्रेकर लगा दिए।

 

स्पीड ब्रेकर बनने से वाहनों की स्पीड तो कम हो गई, लेकिन वाहन चालकों के स्पीड ब्रेकरों से लगने वाले झटकों से कमर दर्द, साइटिका, गर्दन के झटका लगने से सर्वाइकल, स्पोडिलाइटिस, स्लिपडीस सहित कई प्रकार की बीमारियां व दर्द शुरु होने लग गए है।

 

लोगों की ओर से कई बार पालिकाध्यक्ष व अधिशासी अधिकारी को अवगत करवाने के बावजूद स्पीड ब्रेकरों की संख्या को कम नहीं किया जा रहा है। लोगों ने बताया कि मुख्य बाजार में मात्र 500 मीटर की दूरी पर ही नगरपालिका ने लगभग 23 स्पीड ब्रेकर लगा दिए जिससे बार-बार वाहन से आवागमन करने, मजदूरों को ठेला चलाने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

 

दांडी यात्रा स्टेचु बनाया
टोंक. नगर परिषद की ओर से बस स्टैण्ड के समीप दांडी यात्रा का स्टेचु लगाया गया है। महात्मा गांधी समेत अन्य की मूर्ति का अनावरण बाद में किया जाएगा। फिलहाल दांडी यात्रा की प्रतिमाएं लगाई गई है। नगर परिषद सभापति लक्ष्मी जैन ने बताया कि रोडवेज बस स्टैण्ड पर दांडी यात्रा का स्टेचु बनाया गया है।

 

नगर परिषद की ओर से करीब दो करोड 50 लाख के विकास कार्य बस स्टैण्ड पर कराए गए हैं। नगर परिषद ने दांडी मार्च का स्टेचु रोडवेज बस स्टैंड के मुख्य द्वार के पास बनाया है। इसमें 50 फीट लंबी चट्टान पर 11 महापुरुषों की विभिन्न मुद्राओं की मूर्तियां लगाई गई है।

 

इसमें आगे महात्मा गांधी, फिर जमुनालाल बजाज, अब्दुल गफ्फार गांधी, मदन मोहन मालवीय एवं अन्य स्वतंत्र सेनानियों की मूर्तियां लगाई गई है। इन मूर्तियों की साइज करीब 7 फीट ऊंची है। मूर्तियां कॉपर, आरसीसी की है। अब यहां पानी का झरना, ग्रेनाइट टाइल्स , फ्लैश लाइट, शेड व रंग बिरंगी लाइटे आदि लगाए जाएंगे।

 

पौधे भी लगाए जाएंगे। साथ ही 12 सोलर लाइटें लगाई जाएगी। सुरक्षा के लिए चारों ओर रेलिंग लगाई जाएगी। इस पर 49 लाख रुपए की लागत आएगी। निर्माण की देखरेख नगरपरिषद के आयुक्त पूजा मीना व एक्सइएन के.एल. मीना कर रहे हैं।

Published On:
Jul, 15 2019 05:20 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।