निवाई अधिशासी अधिकारी के विरुद्ध लिया निंदा प्रस्ताव

By: MOHAN LAL KUMAWAT

|

Published: 13 Aug 2019, 02:45 PM IST

Tonk, Tonk, Rajasthan, India

निवाई. पालिकाकर्मियों के विरुद्ध Against staff गुर्जर समाज की बैठक वीर गुर्जर छात्रावास Veer Gurjar Hostel में संस्था अध्यक्ष रामफूल डोई की अध्यक्षता में आयोजित की गई।

read more : श्रावण मास के आखिरी वन सोमवार को बीसलपुर में भक्तों का उमड़ा सैलाब

बैठक में समाज की महिला Society woman से पालिकाकर्मियों द्वारा की गई अश्लील हरकत Pornographic act करने वाले आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। बैठक में पालिका अधिशासी अधिकारी महिमा डांगी की कार्यशैली को लेकर निंदा प्रस्ताव पारित कर स्थानांतरण की मांग की।

 

बैठक यह भी चर्चा हुई कि पालिकाकर्मियों ने झूठा मुकदमा दर्ज करवाया हैं और आरोपियों द्वारा पालिका में कार्यरत गुर्जर समाज के कर्मचारियों को धमकाया जा रहा हैं। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि तीन दिन के अन्दर सभी आरोपियों को गिरफ्तार arrested the accused नहीं किया गया तो गुर्जर समाज सडक़ पर प्रदर्शन display करेगा।

 

read more : पंचामृत से शिव का किया अभिषेक, आक, धतूरा, बिल्व-पत्र, मोगरा, गुलाब पुष्पों से भगवान शंकर का किया शृंगार
बैठक में सीआर ब्रह्मप्रकाश गुर्जर के नेतृत्व में विधायक प्रशांत बैरवा से मिलने का भी निर्णय लिया गया। अश्लील हरकत और लज्जा भंग करने के मामले में थाने में स्वास्थ्य निरीक्षक बाबूलाल शर्मा, जेएईन राजेश बैरवा, जेएईन दिनेश वर्मा और धर्मचंद के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हैं।

 

बैठक में मुख्य रूप जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव मांगीलाल गुर्जर, भाजपा पार्षद रतनदीप गुर्जर, पूर्व सीआर राजेंद्र गुर्जर सहित कई पदाधिकारी और युवा मौजूद थे। वहीं दूसरी ओर पालिकाकर्मियों की पेन डाउन हड़ताल को समाप्त हो गई।

read more : रास्ते में जमा कीचड़ से निकलना हुआ दुभर , ग्रामीण सहित विद्यार्थियों को निकलने में हो रही है परेशानी

 

टोडारायसिंह. पंचायत प्रशासन की अनदेखी के चलते मोर कस्बे स्थित कीचड़ भरे मुख्य रास्ते राहगीरों के लिए दुर्घटना का सबब बने हुए है। कस्बानिवासी कमलेश योगी समेत अन्य लोगो ने बताया कि मोर मुख्य बस स्टेण्ड से सुरजपुरा के मुख्य रास्ता आबादी क्षेत्र में कीचड़ से भरा हुआ है।

 

मुख्य बस स्टेण्ड से खाई वाले महादेव व भील बस्ती तक मुख्य रास्ते पर वाहनों से गुजरना तो दूर पैदल चलना मुश्किल हो जाता है। कीचड़ से लथपथ पैरो को बालाजी स्थित हैण्डपम्प पर धोकर उन्हें स्कूल जाना पड़ता है। कई बार पंचायत प्रशासन को अवगत कराया गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। यही हाल बैरवा व धाकड़ मोहल्ले का है। उन्होंने उक्त मार्गों पर कच्चे मकानो की दीवारे गिरने का भी अंदेशा जताते हुए प्रशासन से आवश्यक कार्रवाई की मांग की है।

 

 



हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।