श्रावण मास के आखिरी वन सोमवार को बीसलपुर में भक्तों का उमड़ा सैलाब

By: MOHAN LAL KUMAWAT

|

Published: 13 Aug 2019, 12:26 PM IST

Tonk, Tonk, Rajasthan, India

राजमहल. श्रावण मास Shravan month के आखिरी वन सोमवार One monday को बीसलपुर Bisalpur में भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। कोटा, बूंदी, भीलवाड़ा, जयपुर, अजमेर सहित निकटवर्ती गांव व कस्बों से काफी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण बीसलपुर का गोकर्णेश्वर महादेव मंदिर दिनभर हर हर महादेव के जयकारों Shouts of Mahadev से गूंजायमान रहा। वही देवली व टोडारायसिंह मार्ग पर लगभग तीन किमी कतार लगी रही।

read more : सूने मकान से 8 लाख की नकदी और 15 लाख के आभूषण हुए चोरी
दिनभर जाम के चलते लोगों को घंटों तक कतारों मेें खड़ा रहकर जाम खुलने का इंतजार Waiting for the jam to open करना पड़ा। पर्याप्त पुलिस जाप्ता Ample police japta नहीं होने के कारण दिनभर श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ा।

 

इस दौरान श्रद्धालुओं ने पवित्र दह में डुबकी लगाकर मछलियों को आटा खिलाने के साथ ही शिवजी का जलाभिषेक किया। दूर दराज से आए लोगों ने बांध की मुख्य दीवार से बांध में भरे पानी का निहारा।

read more : एक लाख भक्तों ने आगर में किया बाबा बैजनाथ की सवारी के दर्शन

 

टोडारायसिंह. पंचायत प्रशासन की अनदेखी के चलते मोर कस्बे स्थित कीचड़ भरे मुख्य रास्ते राहगीरों के लिए दुर्घटना का सबब बने हुए है। कस्बानिवासी कमलेश योगी समेत अन्य लोगो ने बताया कि मोर मुख्य बस स्टेण्ड से सुरजपुरा के मुख्य रास्ता आबादी क्षेत्र में कीचड़ से भरा हुआ है।

 

मुख्य बस स्टेण्ड से खाई वाले महादेव व भील बस्ती तक मुख्य रास्ते पर वाहनों से गुजरना तो दूर पैदल चलना मुश्किल हो जाता है। कीचड़ से लथपथ पैरो को बालाजी स्थित हैण्डपम्प पर धोकर उन्हें स्कूल जाना पड़ता है।

read more : मानसून की बेरुखी से धीमी पड़ी बीसलपुर डेम में पानी आवक की रफ्तार

 

कई बार पंचायत प्रशासन को अवगत कराया गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। यही हाल बैरवा व धाकड़ मोहल्ले का है। उन्होंने उक्त मार्गों पर कच्चे मकानो की दीवारे गिरने का भी अंदेशा जताते हुए प्रशासन से आवश्यक कार्रवाई की मांग की है।

read more : सिर पर कलश लेकर शहर पहुंची सैकड़ों महिलाएं

 

आवां. श्रावण माह के चौथे सोमवार को शिव मन्दिरों मेड्ड भक्तों की भीड़ उमड़ी । आवां के बस स्टेण्ड स्थित गुप्तेश्वर शिवालय पर श्रद्धालुओं की ओर जलाभिषेक किया गया। इस दौरान पंचामृत से शिव का स्नान करने के साथ सुगन्धित पुष्पों से शिव परिवार का शृंगार भी किया गया।

 

श्रद्धालुओं की ओर से यहां आराधना भी की जा रही है। इसके साथ ग्राम के अन्य मंदिरों मे झांकियां भी सजाई गई। पे्रमशंकर सोमानी, जगादीश माहुर और रूपचन्द चन्देल ने बताया कि शिव का दरबार सजाने के साथ इन आस्था के धामों पर नित्य ध्यान और पूजन कर जगतकल्याण की प्रार्थना की जा रही है।

 

 

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।