mp election 2018 जहां पाए सर्वाधिक मत, वहां की समस्याएं जस की तस

By: vivek gupta

Published On:
Sep, 12 2018 12:28 PM IST

  • भाजपा और कांग्रेस द्वारा पाए गए सर्वाधिक मत वाले बूथों पर प्रत्याशी की स्थिति

टीकमगढ़. 2013 के विधानसभा चुनाव में टीकमगढ़ विधानसभा के जिन बूथों पर कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशियों को सर्वाधिक वोट मिले थे, वहां की समस्याएं पांच साल बाद भी जस की तस बनी हुई है। भाजपा प्रत्याशी एवं विधायक केके श्रीवास्तव को बूथ क्रमांक 19 के हनुमान सागर वार्ड से सर्वाधिक मत मिले थे, लेकिन यहां पर पेयजल, सड़क और स्वच्छता की स्थिति में कुछ ज्यादा सुधार नही हुआ है। वहीं बूथ क्रमांक 83 सक्सेना वार्ड से सर्वाधिक मत प्राप्त करने वाले कांग्रेस के यादवेन्द्र सिंह बुंदेला के वार्ड समस्याएं भी यथावत बनी हुई है।

 

बूथ 19 की समस्याएं: 1. गांव के अंदर की सड़के
2. गांव में पेयजल
3. स्वच्छता

बूथ 83 की समस्याएं: 1. वार्ड में सड़कों की समस्या
2. वार्ड के कुछ हिस्सों में पेयजल की समस्या

प्रयास हुए लेकिन न काफी : बूथ क्रमांक 19 के गांव हनुमान सागर और बौरी में समस्याओं के निराकरण के लिए कुछ तो काम किए गए है, लेकिन वह न काफी बताए जा रहे है। विधायक केके श्रीवास्तव ने अपनी निधि से बौरी में एक सड़क के लिए ढाई लाख रूपए की सहायता दी है। वहीं गर्मी में पेयजल की समस्या होने पर मिशन भागीरथी के द्वारा हरिजन बस्ती में पुरानी पाईप लाईन को दुरूस्त कराकर पेयजल उपलब्ध कराया गया था। शेष गांव में पेयजल के स्थाई समाधान की मांग अब भी की जा रही है। गांव के नत्थू लोधी का कहना है कि हनुमान सागर गांव से डांग तक की मुख्य सड़क जर्जर बनी हुई है। अन्य सड़के भी खराब है। वहीं किशोरी लोधी का कहना है कि पेयजल के स्थाई समाधान के लिए प्रयास नही हुए है।

यहां भी नही हुए काम: यहीं हाल बूथ क्रमांक 83 के सैल सागर चौराहा, लक्कडख़ाना, पटला मुहल्ला, बदान, कुमैदान मुहल्ला, बधान मुहल्ला, फतेह सिंह की गली का है। यहां भी मुख्य समस्या पेयजल एवं सड़क की है। वार्ड के हबीब खान का कहना है कि कि वार्ड के कई मुहल्लों में सड़के नही है। पेयजल के लिए पाईप लाईन ही नही है। वहीं कमल रैकवार का कहना है कि सड़क, पेयजल के साथ ही स्वच्छता के भी पर्याप्त साधन नही है।

करने होंगे प्रयास: पांच साल निकाल जाने के बाद अब दोनों प्रत्याशियों को अपनी स्थिति जस की तस बनाए रखने के लिए प्रयास करने होंगे। हनुमान सागर गांव से डांग रोड़ की समस्या के चलते यहां के लोग नाराज दिखाई दे रहे है। वहीं पेयजल की समस्या को लेकर भी लोगों में नाराजगी है। दूसरी ओर बूथ क्रमांक 83 में सर्वाधिक मत प्राप्त करने वाले यादवेन्द्र सिंह बुंदेला को लेकर कुछ लोगों का कहना है कि जब वह जीते ही नही तो काम क्या कराते, तो कुछ लोग उनके पांच साल सक्रिय न रहने पर प्रश्र खड़े कर रहे है। दोनो वार्डों में ही प्रत्याशियों को अपना कद बनाए रखने के लिए प्रयास करने होंगे।

यह फैक्टर करेंगे काम: इस बार के चुनाव में सरकार की हितग्राही मूलक योजनाएं जहां भाजपा की राह आसान करेंगी, वहीं महंगाई एवं आरक्षण मुद्दा कांग्रेस के पक्ष में जाता दिखाई दे रहा है। प्रधानमंत्री आवास, विद्युत बिल माफी सहित अन्य योजनाओं का लाभ ले चुके हितग्राही भाजपा की राह आसान करते दिखाई दे रहे है। वहीं शहरी क्षेत्रों में पेट्रोल, डीजल और रसाई गैंस की कीमतों के साथ ही आरक्षण का मामला भाजपा की राह में रोड़े अटकाता दिखाई दे रहा है।

इनका कहना है: ग्राम विकास के लिए प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने अनेक योजनाओं का संचालन किया है। गांवों में विधायक निधी से सड़क निर्माण कराई गई है। पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के लिए बान सुजारा से समूह नलजल योजना स्वीकृत कराई गई है। जल्द ही इसका काम प्रारंभ हो जाएगा। जनता आज का आशीर्वाद आज भी भाजपा के साथ है। जनता अपना आशीर्वाद देगी और यह लीड हर बूथ पर बरकरार होगी। प्रदेश में फिर से कमल खिलेगा। - केके श्रीवास्तव, विधायक।

लकडख़ाना सहित पूरे क्षेत्र में हमारे समय में ही पेयजल एवं सड़कों का काम हुआ था। उसके बाद से कोई काम नही हुआ है। हनुमानसागर और बौरी में हमारे शासनकाल में ही सड़क निर्माण किया गया था। उसके पहले लोग तालाब किनारे पत्थरों पर से आते-जाते थे। माध्यमिक एवं प्राथमिक शाला भी हमने बनवाई थी। अब 10 सालों से यहां पर कोई काम नही किए गए है।- यादवेन्द्र सिंह बुंदेला, पूर्व मंत्री, कांग्रेस।

टीकमगढ़ विधानसभा बूथ क्रमांक 19
वार्ड- हनुमान सागर के मतदाताओं की स्थिति
कुल मतदाता- 1490
डाले गए मत- 1062
भाजपा को मिले मत- 782
कांग्रेस को मिले मत- 170

टीकमगढ़ विधानसभा बूथ क्रमांक 83
वार्ड- सक्सेना वार्ड
कुल मतदाता- 1620
डाले गए मत- 910
कांग्रेस को मिले मत- 517
भाजपा को मिले मत- 178

Published On:
Sep, 12 2018 12:28 PM IST