नंद के आनंद भयों जय कन्र्हैया लाल की, कान्हा के गीतोंं पर युवा थिरके, फोड़ी मटकी

By: Akhilesh Lodhi

Updated On:
25 Aug 2019, 11:46:31 AM IST

  • श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कृष्ण मंदिरों में जहां दिन भर आयोजन के बाद देर रात कान्हा के जन्म का पर्व मनाया गया।

टीकमगढ़.श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कृष्ण मंदिरों में जहां दिन भर आयोजन के बाद देर रात कान्हा के जन्म का पर्व मनाया गया। वहीं नगर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव परिवार द्वारा निकाली गई शोभायात्रा में मनमोहक झांकियों के साथ मस्ती में झूमते गोविंदाओं की टोली निकली। शोभायात्रा में बांसूरी और फूलों से सजी झांकी विशेष आक र्षण का केंद्र रही। जन्माष्टमी पर जिले के कृष्ण मंदिरों में भी खासी धूम रही।
जन्माष्टमी पर निकाली जाने वाली शोभायात्रा नजरबाग मंदिर से शुरू हुई। शोभायात्रा में सबसे आगे धर्म ध्वजा लेकर घुड़सवार चल रहे थे। धर्म ध्वज के बाद राधे-कृष्ण का भजन कीर्तन करते हुए महिलाओं और बच्चियों क ी टोली थी। जिनके द्वारा नंदोत्सव की बधाई गाकर नृत्य किया जा रहा था। भजन कीर्तन मंडली के बाद लड्डू गोपाल की पालकी को कांधों पर लेकर भक्त चल रहे थे। शोभायात्रा में विशेष रूप से तैयार किए गए मुकुट और लंबी बांसुरी को उठाए हुए श्रद्धालुओं की टोली चल रही थी। माखन चोर मुरली मनोहर के भजनों से नगर को गुंजायमान करते हुए डीजे की धुन पर युवाओं की टोलियां चल रही थी। शोभायात्रा नजरबाग से शुरू होकर सैलसागर, सिंधी धर्मशाला, लुकमान चौराहा, नजाई दरवाजा, जवाहर चौराहा, कटरा बाजार, बजरंग आखाडा पहुंची। इस दौरान लोगों ने भगवान श्रीकृष्ण-राधा के स्वरूप की पूजा-अर्चना की। जगह-जगह भक्तों ने भगवान की आरती उतार कर प्रसाद वितरित किया।

 

ठकुरपुरा गांव के ग्वालों ने तोड़ी मटकी
श्रीरामराजा मंदिर में दधि मटकी उत्सव का आयोजन
ओरछा .श्री कृष्ण जन्मोत्सव के बाद शनिवार को श्री रामराजा मंदिर परिसर में आयोजित दधि मटकी महोत्सव में बुंदेलखंड भर से आई ग्वालाओं की टोलियों ने भाग लिया। बारी-बारी से सभी ग्वाल टोलियों ने मंदिर के परिसर में तीन ओर से रस्सियों से बंधी घूमती हुई दधि मटकी को तोडऩे का प्रयास किया, लेकिन मंदिर की छतो से बंधी रस्सियों से लोगों द्वारा खींच कर मटकी को तेज हिलाया जा रहा था। इसलिए दधि मटकी को फोडऩे में ग्वालों को काफी परेशानी हो रही थी। यह सिलसिला दोपहर एक बजे से तीन बजे तक चला। इसी बीच ओरछा क्षेत्र के ठकुरपुरा गांव के ग्वालों की टोली ने मटकी के नीचे जुगत लगाई और एक घंटे की मशक्कत के बाद दधि मटकी को तोड़ लिया। श्री रामराजा मंदिर के प्रधान पुजारी रमाकांत शरण महाराज ने बताया कि मंदिर के परम्परागत दधि मटकी महोत्सव का शुभारंम्भ रामराजा सरकार की राज भोग आरती के बाद दोपहर एक बजे से किया गया। दधि मटकी फोडऩे वाली ग्वाल टोली को मन्दिर प्रबन्धन की ओर से २५ रुपए नकद सभी ग्वालों को रामराजा सरकार का प्रसाद दिया गया। दधि महोत्सव में क्षेत्र के आजादपुरा सिंहपुरा, कुम्हर्रा, भगवन्तपुरा, ठकुरपुरा तथा ओरछा की युवा ग्वाल टोलियां शामिल हुई। इनमें ठकुरपुरा की टोली को विजेता घोषित किया गया। दधि मटकी तोडऩे वाली टीम को मन्दिर प्रबन्धन की ओर से तहसीलदार रोहित वर्मा, एसडीओपी अशोक घनघोरिया, नगर निरीक्षक नरेंद्र त्रिपाठी, एसआई लीलाधर तिवारी ने पुरस्कार तथा प्रसाद देकर सम्मानित किया। इस मौके पर हजारो की संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

Updated On:
25 Aug 2019, 11:46:31 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।