सालों बाद फिर खुले इस प्रसिद्ध कृष्ण मंदिर के द्वार, भक्तों का फूटा जनसैलाब

By: Tanvi Sharma

Published On:
Sep, 03 2018 12:57 PM IST

  • सालों बाद फिर खुले इस प्रसिद्ध कृष्ण मंदिर के द्वार, भक्तों का फूटा जनसैलाब

नेपाल में 2015 में आए भीषण भूकंप के तीन साल बाद कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर काठमांडू के ललितपुर नगर निकाय में स्थित भगवान कृष्ण के 17वीं शताब्दी के मंदिर को लोगों के लिए फिर से खोल दिया गया। भारतीय शिखर शैली में निर्मित यह प्रसिद्ध मंदिर लोगों की आस्था का केंद्र है। नेपाल में 2015 में 7.8 तीव्रता का भूकंप आया था। जिसने पूरे नेपाल को तहस नहस कर दिया था। उस भूकंप में करीब 8,700 लोग मारे गए थे वहीं नेपाल की धरोहर व सांस्कृतिक विरासत को भी काफी नुकसान पहुंचा था। इसी भूकंप के कारण यहां के प्रसिद्ध कृष्ण मंदिर को दोबार रविवार को खोला गया। जिसमें दर्शन के लिए भक्तों का जनसैलाब उमड़ा है। मंदिर को दोबारा कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर खोला गया।

krishna mandir

क्षतिग्रस्त हो गया था मंदिर

भूकंप के कारण ललितपुर में सिद्धि नरसिंह मल्ल द्वारा निर्मित कलात्मक मंदिर भूकंप में आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया था। जिसकी मरम्मत के बाद तीन साल बाद अब मंदिर खोला गया। मंदिर दोबार खलने के बाद और भी ज्यादा खूबसूरत दिखा। इसे रंगीन झंडे, बैनर और लाइट के साथ खूबसूरती से सजाया गया है। इस कृष्ण मंदिर तीन मंजिला इमारत व 21 शिखर है।

 

 

krishna mandir

मंदिर की हर मंजिल का है महत्व

इस खूबसूरत कृष्ण मंदिर को 21 शिखर व तीन मंजिल है। मंदिर की पहली मंजिल में पत्थरों पर हिन्दुओं के महाकाव्य महाभारत से जुड़ी घटनाओं को दर्शाया गया है, वहीं मंदिर की दूसरी मंजिल में रामायण से जुड़े दृश्यों को बखूबी बताया गया है। कृष्ण मंदिर का संपूर्ण निर्माण भारतीय शिखर शैली के आधार पर किया गया है। इस मंदिर के बारे में किवदंति है कि एक रात मल्ल राजा ने सपने में कृष्ण और राधा को देखा और अपने महल के सामने मंदिर बनाने का निर्देश दिया। इसकी एक प्रतिकृति राजा ने महल के अंदर परिसर में बनवाई थी।

krishna mandir

मंदिर में धूमधाम से मनाई जा रही है कृष्ण जन्माष्टमी

तीन साल बाद कृष्ण मंदिर के दोबार खुलने पर श्रृद्धआलुओं में खासा उत्साह देखने को मिला। वहीं मंदिर में भक्तों की भीड़ भी देखी गई। जन्माष्टमी का त्यौहार यहां बड़ी धूम-धाम से मनाया जा रहा है। खूबसूरत रंगीन झंडे, बैनर और लाइट से मंदिर को सजाया गया है। यहां का नज़ारा काफी खूबसूत नजर आ रहा है।

Published On:
Sep, 03 2018 12:57 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।