खेतेश्वर क्रेडिट सोसायटी के नाम पर करोड़ों ठगने वाले पुलिस के हत्थे चढ़े

By: Sunil Mishra

Updated On: Apr, 05 2019 09:36 PM IST

  • तीन आरोपियों को राजस्थान से धरमपुर लाई पुलिस

वलसाड. खेतेश्वर क्रेडिट सोसायटी के नाम पर जिले के लोगों को करोड़ों रुपए की चपत लगाकर फरार हुए तीन आरोपियों को धरमपुर पुलिस ट्रांसफर वारंट पर राजस्थान से लेकर आई है।

राजस्थान निवासी शैतानसिंह राजपुरोहित, विक्रम सिंह और राजवीर सिंह 2011 में खेतेश्वर अर्बन क्रेडिट सोसायटी के नाम पर वलसाड, वापी, धरमपुर, सिलवासा, दमण, सरीगाम, चिखली, नवसारी समेत कई जगहों पर कार्यालय खोले थे। जहां ऊंचे ब्याज का लालच देकर लोगों से रुपए जमा करवाए थे। 2016 में तीनों भाई वलसाड जिले के अलावा राजस्थान और महाराष्ट्र समेत अन्य स्थानों की सभी शाखाओं को बंद कर दिया और लोगों के रुपए लेकर फरार हो गए। इसके बाद वलसाड जिले के कई थाने में तीनों के खिलाफ लोगों ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस ने जांच शुरू की, लेकिन आरोपी फरार हो चुके थे। राजस्थान पुलिस ने 2017 में तीनों भाइयों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में अन्य जगहों पर ठगी की बात सामने आने पर वहां की पुलिस को भी गिरफ्तारी की जानकारी दी थी। इसके अंतर्गत धरमपुर पुलिस दो दिन पहले राजस्थान जेल से तीनों भाइयों को ट्रांसफर वारंट पर यहां लाई है। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर चार दिनों का रिमांड प्राप्त किया है। वहीं, यह भी सामने आया है कि वलसाड सिटी पुलिस भी तीनों को दिसंबर में 2018 में यहां लाई थी, लेकिन अन्य किसी थाने को इसकी जानकारी नहीं दी और पूछताछ के बाद तीनों को राजस्थान भेज दिया था। तीनों भाइयों ने खेतेश्वर अर्बन क्रेडिट सोसायटी के नाम पर शाखाएं शुरू कर कई लोगों को नौकरी पर रखा था। लेकिन उन्हें भी कई माह से वेतन नहीं दिया। नौकरी पर लगे लोगों से भी रुपए जमा करवाए और उन्हें भी चूना लगाकर फरार हो गए थे।

Published On:
Apr, 05 2019 09:36 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।