रेलवे का स्वच्छता ही सेवा पखवाड़ा 15 सितम्बर से

By: Sanjeev Kumar Singh

Published On:
Sep, 12 2018 12:22 PM IST

  • स्टेशनों और गाडिय़ों में सफाई का अभियान चलेगा

सूरत.

पश्चिम रेलवे में 15 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा पखवाड़ा’ मनाया जाएगा। पखवाड़े के दौरान रेलवे में स्वच्छता का अभियान चलाया जाएगा।


पश्चिम रेलवे के मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी रविंद्र भाकर ने बताया कि स्टेशनों, ट्रेनों, कार्यालयों, रेलवे कॉलोनियों, कारखानों तथा अस्पतालों में विशेष स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा। वाटर बूथ तथा पेयजल की गुणवत्ता, नालों की साफ-सफाई, डस्टबिन की व्यवस्था, कचरा निस्तारण आदि सुनिश्चित करने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। अभियान में एनजीओ तथा चैरिटेबल संस्थानों की भी भागीदारी रहेगी। स्टेशनों तक पहुंचने वाले ट्रैक की सफाई का अभियान भी चलाया जाएगा।

 

गंदगी फैलाने वालों के विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। ‘स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े’ का पहला दिन ‘स्वच्छता जागरुकता’ की संकल्पना पर आधारित होगा। रेल कर्मियों, उनके परिजनों और सफाई कर्मचारियों को स्वच्छता की शपथ दिलाई जाएगी। जागरुकता के लिए प्रभात फेरी निकाली जाएगी। दूसरे और तीसरे दिन ‘स्वच्छता संवाद’ में गैर सरकारी संगठनों, चैरिटेबल संस्थाओं, स्काउट एंड गाइड, यूनियन तथा रेलकर्मियों को शामिल करते हुए सेमिनार आयोजित किए जाएंगे तथा स्टेशन पर स्वच्छता मुहिम चलाई जाएगी। स्वच्छता पर पेंटिग एवं पोस्टर प्रतियोगिता भी आयोजित की जाएगी। रेलवे कॉलोनियों, विश्रामगृहों, डॉरमेटरियों, रनिंग रूम, हॉस्पिटल, हेल्थ यूनिट और स्कूलों में गंदगी नहीं फैलाने से सम्बंधित नोटिस प्रदर्शित किए जाएंगे।

 

यात्रियों से स्वच्छता जागरुकता तथा 139 पर संदेश के बारे में फीडबैक लिया जाएगा। 18 और 19 सितम्बर को ‘स्वच्छ स्टेशन’ के अंतर्गत साफ-सफाई की मशीनों, टूल्स और प्लांट, सफाई कर्मचारियों के सुरक्षा उपकरणों की उपलब्धता एवं स्टेशनों पर डस्टबिन की पर्याप्त उपलब्धता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। 20 और 21 सितम्बर को ‘स्वच्छ रेलगाड़ी’ के रूप में मनाया जाएगा, जिसमें रेल कर्मचारियों की टीम चलती ट्रेन में निरीक्षण कर स्वच्छता सुनिश्चित करेगी। वॉशिंग लाइन, रेलवे यार्ड तथा स्टेशनों पर सभी ट्रेनों के टॉयलेट, लिनन की गुणवत्ता को निरीक्षण किया जाएगा।

 

यात्रियों के सुझाव और फीडबैक भी लिए जाएंगे। 22 सितम्बर को ‘सेवा दिवस’ और ‘सामुदायिक दिवस’, 23 और 24 सितम्बर को ‘स्वच्छ परिसर’, 25 और 26 सितम्बर को ‘स्वच्छ आहार’, 27 और 28 सितम्बर को ‘स्वच्छ नीर’, 29 सितम्बर को ‘स्वच्छ प्रसाधन’ और 30 सितम्बर को ‘स्वच्छ प्रतियोगिता’ दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

Published On:
Sep, 12 2018 12:22 PM IST