आयकर विभाग ने प्रेम से समझाकर वसूल लिए 363 करोड

By: Pradeep Devmani Mishra

Published On:
Jun, 19 2019 08:42 PM IST

  • पिछले वित्तीय वर्ष की अपेक्षा 13.37 प्रतिशत कलेक्शन अधिक

सूरत
आयकर विभाग ने इस बार एडवांस टैक्स कलेक्शन के लिए नई तरकीब अजमाई। हर बार वह सिर्फ नोटिस भेजते थे। इस बार उन्होंने कई व्यापारियों के साथ मीटिंग भी की।
आयकर विभाग ने वर्तमान वित्तीय वर्ष में एडवांस टैक्स के तौर पर अब तक 363 करोड़ रुपए वसूल किए हैं, जो कि पिछले साल की अपेक्षा 13.37 प्रतिशत अधिक है।
आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार एडवांस टैक्स का पहला हप्ता 15 जून तक आना था, आयकर अधिकारियों ने टैक्स कलेक्शन बढ़े इसलिए एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था। तमाम एडवांस टैक्स करदाताओं को पत्र लिखने के साथ अधिकारियों ने बड़े टैक्स पेयर के साथ मीटिंग कर उन्हें एडवांस टैक्स चुकाने को भी कहा था। इसका असर भी एडवांस टैक्स के कलेक्शन पर दिखा। बताया जा रहा है कि इस साल सूरत कमिश्नरेट ने एडवांस टैक्स के तौर पर कुल 554.6 करोड़ रुपए वसूल किए थे। इसमें से 191.6 करोड़ रुपए रिफंड के तौर पर लौटा दिए। सबसे अधिक टीडीएस सीआइटी-1 में लगभग 156 करोड़ रुपए, सीआइटी-2 में 66 करोड़ रुपए और सीआइटी-3 में 20 करोड़ रुपए वसूल किए। सीआइटी वलसाड़ ने 120.1 करोड़ रुपए वसूल किए। गुजरात राज्य में 10040 करोड़ रुपए वसूल किेए गए हैं, जो कि पिछले साल की अपेक्षा 13.99 प्रतिशत अधिक है।
उल्लेखनीय है कि सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स ने इस साल देशभर में तमाम कमिश्नरेट में आयकर कलेक्शन बढ़ाने के लिए संभव हर प्रयास करने को कहा है। इसके चलते सूरत में भी आयकर अधिकारी रिकवरी सहित तमाम स्थानों पर टैक्स वसूली के लिए जोर लगा रहे हैं।

Published On:
Jun, 19 2019 08:42 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।