तेज गर्मी के बाद हल्की बारिश से मिली राहत

By: Rajender pal nikka

Updated On: Jun, 12 2019 09:33 PM IST

  • बीरमाना,रामसिंहपुर।

-गर्मी से झुलस रही फसलों को भी अमृत मिल गया।

बुधवार दोपहर बाद मौसम में हुए परिवर्तन के बाद शाम करीब 6 बजे बीरमाना व आसपास के क्षेत्र में हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे पिछलें दिनों पड़ रही रही भीषण गर्मी व उमस से लोगों को राहत मिली है। वहीं इस तेज गर्मी में झुलस रही नरमें कपास व अन्य फसल को थोड़ी राहत मिली।

पिछलें कई दिनों से लोगों को गर्मी व उमस का सामना करना पड़ रहा था। दोपहर के समय तो तापमान 48 डिग्री से ऊपर चल रहा था ।जिससे हर कोई बेहाल था चाहे मनुष्य हो या पशु पेड़ पौधे सभी गर्मी से त्रस्त थे । तथा लोगों का अपने घरों से निकलना मुशिकल था। ऐसे में बुधवार को दोपहर बाद अचानक हुए इस मौसम में परिवर्तन के बाद शाम के समय हुई हल्की बूंदाबांदी से काफी राहत मिली है।

-तेज गर्मी के बाद हल्दी बारिश से मिली राहत

रामसिंहपुर. गत दस दिनों से पड़ रही भंयकर गर्मी के बाद बुधवार शाम करीब छह बजे अचानक मौसम में परिवर्तन होने से तेज हवा के साथ बादल घिर आए व सुरजनसर क्षेत्र के कई गांवों में हल्की तो कहीं बूंदाबादी होने से एक बार मौसम सुहावना हो गया. जिससे यहां के लोगों को गर्मी से राहत मिली व गर्मी से झुलस रही फसलों को भी अमृत मिल गया।

निकटवर्ती गांव सुरजनसर क्षेत्र में बुधवार शाम को अचानक मौसम में पलटवार से तेज हवाओं के साथ बादल घिर आए. जिससे आरडी 330, गोपालसर, एक दो तीन एसपीएम, राजाणा में रूक रूक कर करीब दस मिनट तक बादल बरसने से करीब एक-एक अगुंल बारिस हुई. वहीं बख्तावरपुरा भोपालपुर, एक एलएम, सुरजनसर में बूदाबांदी होने से एक बार मौसम सुहावना हो गया तथा उसके बाद हवा चलने से यहां के लोगों को गर्मी से राहत मिल गई. क्षेत्र में हल्की बारिश होने से गर्मी से झुलस रही नरमें, कपास व मूंगफली की फसलों को जीवनदान मिल गया तथा किसानों को भी बारिश की संभावना बढ जाने से चेहरे चमकने लगे है.

Published On:
Jun, 12 2019 08:06 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।