लाल निशान लगाकर भूली नगर परिषद

By: pawan uppal

Published On:
Aug, 29 2017 07:14 AM IST

  • श्रीगंगानगर. शहर मेंअतिक्रमण हटाने के लिए नगर परिषद व यूआईटी ने कई जगह लाल निशान लगाकर अतिक्रमण हटाना भूल गई।

श्रीगंगानगर. शहर मेंअतिक्रमण हटाने के लिए नगर परिषद व यूआईटी ने कई जगह लाल निशान लगाकर अतिक्रमण हटाना भूल गई। जिला कलक्टर ज्ञानाराम ने नगर परिषद आयुक्त को शहर में अतिक्रमण हटाने के लिए एक प्लान बनाने के लिए पाबंद किया गया। इसकी अनुपालना में एक माह पहले नगर परिषद ने शहर के 50 वार्डों में अतिक्रमण हटाने के लिए एक प्लान बनाया गया। इसकी रिपोर्ट डीएलबी तक को भिजवाई गई थी। लेकिन इस प्लान के अनुसार नगर परिषद ने शहर में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई नहीं की। हालांकि हाईकोर्ट ने शहर में अतिक्रमण हटाने के लिए नगर परिषद, यूआईटी व अन्य विभागों को पाबंद कर रखा है। लेकिन इस पर भी अभी तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की गई। उल्लेखनीय है कि शहर में अब भी अतिक्रमण करने की कार्रवाई चल रही है।
50 वार्डों में हटाना था अतिक्रमण :

नगर परिषद आयुक्त ने शहर के ५० वार्डों में अतिक्रमण हटाने के लिए एक-एक वार्ड का सर्वे कर रिपोर्ट तैयार करनी थी। हर वार्ड में नगर परिषद को अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करनी थी, इसकी योजना तैयार की गई लेकिन नगर परिषद की टीम ने अतिक्रमण हटाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की। हालांकि हाईकोर्ट ने शहर में अतिक्रमण हटाने के लिए नगर परिषद, यूआईटी व अन्य विभागों को पाबंद कर रखा है। 


निशान लगाए, अतिक्रमण हटाए नहीं
नगर परिषद ने शहर में एक जगह नहीं कई जगह सर्वे करवाकर अतिक्रमण हटाने के लिए लाल निशान तक लगाए । संबंधित लोगों व दुकानदारों को अतिक्रमण हटाने के लिए पाबंद किया गया। कुछ लोगों ने शहर में स्वयं अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। शहर की कोतवाली रोड पर सर्वे कर लाल निशान लगाए गए लेकिन इसके बाद आगे कोई कार्रवाई नहीं की गई।


शहर में जहां पर लाल निशान लगाए गए हैं। वहां पर जल्द ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई अधिकारियों से चर्चा कर की जाएगी।
सुनीता चौधरी,
आयुक्त, नगर परिषद

Published On:
Aug, 29 2017 07:14 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।