रेग्यूलेशन कमेटी की बैठक में किसान आपस में ही उलझे

By: Krishan Ram

Published On:
Jul, 10 2019 09:44 PM IST

बीबी नहर में पांच दिन तक सिंचाई पानी नहीं छोडऩे पर हंगामा

रेग्यूलेशन कमेटी की बैठक में किसान आपस में ही उलझे

 

श्रीगंगानगर. गंगनहर की आरबी नहर में पांच दिन तक सिंचाई पानी नहीं छोडऩे पर बुधवार को रेग्यूलेशन कमेटी की बैठक में किसानों ने जमकर हंगामा किया। जल संसाधन विभाग के विश्राम गृह में बैठक शुरू होते ही गंगनहर परियोजना के पूर्व प्रोजेक्ट चेयरमैन गुरबलपाल सिंह संधू ने गंगनहर रेग्यूलेशन एक्सइएन महेंद्र सिंह चारण पर आरोप लगाया कि आप बताओ कि गंगनहर में पर्याप्त पानी होने के बाजवूद पांच दिन तक बीबी नहर में पानी क्यों नहीं छोड़ा ? इसको लेकर संधू ने अधिकारियों की जमकर खिंचाई की और गंगनगर में सिंचाई पानी वितरण में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया। संधू ने एक्सइएन से कहा कि आप बताओ कितना पानी चल रहा था, इसका हिसाब चाहिए ? एचएच और फार्म नहर में सिंचाई पानी कैसे छोड़ दिया? अधिशासी अभियंता धीरज चावला, अधिशासी अभियंता (रेग्यूलेशन) महेंद्र चारण, सहायक अभियंता सर्वजीत सिंह व प्यारे लाल ने किसानों के सवालों के जवाब देते हुए गंगनहर में मिलने वाले पानी की बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार वितरण करना तय किया गया। बैठक में जीजी नहर के जल उपभोक्ता संगम अध्यक्ष छमविंद्र सिंह, मनजीत सिंह, देवेंद्र सिंह, गुरचरण सिंह, सुभाष मोयल, एमएल नहर अध्यक्ष जसमत सिंह, अतवेंद्र सिंह क्रांति, किसान मोर्चा के तेज कुमार व लाभ सिंह आदि किसान प्रतिनिधि शामिल हुए।

सिंचाई पानी की मांग को लेकर किसान दल के नेता रघुवीर ताखर बैठक में पहुंचे। ताखर ने कहा कि गंगनहर परियोजना के नहरी अध्यक्ष पानी का वितरण अपनी मनमर्जी से करवा रहे है। इस बात को लेकर गुरबलपाल सिंह, सुभाष मोयल व ताखर से जमकर बहस हुई। कश्मीर सिंह ने कहा कि बीबी नहर में नियमित सिंचाई पानी छोड़ा जाए।

Published On:
Jul, 10 2019 09:44 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।